परेशानी / वॉट्सऐप पर पेमेंट सर्विस के लिए अपने वर्चस्व के दुरुपयोग का आरोप, CCI कर रहा मामले की जांच

परेशानी / वॉट्सऐप पर पेमेंट सर्विस के लिए अपने वर्चस्व के दुरुपयोग का आरोप, CCI कर रहा मामले की जांच





अगर आयोग वॉट्सऐप को गलत पाता है तो वॉट्सऐप पेमेंट सर्विस को लेकर परेशानी में पड़ सकता है






  • यह मामला फिलहाल प्रारंभिक चरण में है। CCI के वरिष्ठ सदस्य इसकी समीक्षा कर रहे हैं

  • भारत में व्हाट्सऐप के करीब 40 करोड़ यूजर हैं जो दुनिया के किसी भी देश से ज्यादा हैं


नई दिल्ली. फेसबुक के स्वामित्व वाले वॉट्सऐप पर अपनी मैसेजिंग ऐप के जरिए भुगतान सेवाओं की पेशकश करके अपने प्रमुख स्थान का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया गया है। भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (CCI) इस मामले की जांच कर रहा है। यह मामला मार्च के मध्य में दर्ज एक शिकायत पर आधारित है।


क्या है शिकायत?


रॉयटर्स की रिपोर्ट के अनुसार जल्द ही शुरू होने वाली वॉट्सऐप की पेमेंट सर्विस को लेकर उस पर आरोप है कि वह अपने डिजिटल क्षेत्र में फैले वर्चस्व का गलत तरह से उपयोग करना चाहता है। ताकि वह डिजिटल पेमेंट के क्षेत्र में अपने पैर जमा सके। रिपोर्ट के अनुसार, मामले में शिकायतकर्ता एक वकील है, जिसकी पहचान अभी तक नहीं बताई गई है। 


मामले की समीक्षा कर रहे अधिकारी
CCI आरोपों की व्यापक जांच करने के लिए अपनी जांच शाखा को आदेश दे सकता है, या अगर इसमें कोई सच्चाई नहीं मिलती है तो मामले को बाहर कर सकता है। यह मामला फिलहाल प्रारंभिक चरण में है। CCI के वरिष्ठ सदस्य इसकी समीक्षा कर रहे हैं।


परेशानी में पड़ सकती हैं पेमेंट सर्विस


अगर आयोग वॉट्सऐप को गलत पाता है तो वॉट्सऐप पेमेंट सर्विस को लेकर परेशानी में पड़ सकता है। पेमेंट सर्विस को लेकर कंपनी ने सभी तैयारियां कर ली हैं। भारत में व्हाट्सऐप के करीब 40 करोड़ यूजर हैं जो दुनिया के किसी भी देश से ज्यादा हैं। 


2018 में शुरू हुई टेस्टिंग


फेसबुक इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप वॉट्सऐप मई के अंत तक भारत में अपने व्हाट्सएप पे सर्विस को लॉन्च कर सकता है। पेमेंट सर्विस के लिए तीन निजी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी बैंक और एक्सिस बैंक के साथ हाथ मिलाया है। 2018 में व्हाट्सऐप ने आईसीआईसीआई बैंक के साथ मिलकर अपने व्हाट्सऐप पे फीचर की टेस्टिंग को शुरू किया था।


चरणबद्ध तरीके में लॉन्च होगी पेमेंट सर्विस


कंपनी के अनुसार वॉट्सऐप की पेमेंट सर्विस यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) पर आधारित डिजिटल भुगतान की पेशकश करेगा, लेकिन इसे चरणबद्ध तरीके से लॉन्च किया जाएगा। एक अनुमान के अनुसार वर्तमान में भारत में 10 करोड़ से ज्यादा यूपीआई ग्राहक हैं।


2019 में UPI से हुए 10.8 अरब ट्रांजेक्शन


2019 में UPI से 10.8 अरब ट्रांजेक्शन के जरिए 2019 में 18,36,000 करोड़ रुपए का ट्रांजेक्शन किया गया है, जो साल 2018 के मुकाबले 214 फीसदी ज्यादा है। साल 2019 में 9 बैंक UPI इकोसिस्टम से जुड़े हैं। इसके साथ ही दिसंबर 2019 के अंत तक UPI सेवा प्रदान करने वाले बैंकों की संख्या बढ़कर 143 पहुंच गई है।



Popular posts
लॉकडाउन में घर में घुस कर मध्यप्रदेश में नेत्रहीन महिला अधिकारी से रेप, परिजन दूसरे राज्य में फंसे 
उत्तराखंड के चारधाम / बद्रीनाथ को रोज चढ़ाई जाती है बद्रीतुलसी, यहां के बामणी गांव के लोग बनाते हैं ये माला
कोरोना इफेक्ट / एमिरेट्स एयरलाइंस ने 600 पायलटों और 6500 केबिन क्रू को निकाला, सितंबर तक कर्मचारियों की सैलरी में 50% कटौती जारी रहेगी
प्रसिद्ध समाजसेवी डॉ योगेश दुबे मुंबई की राजकुमार सोनी से बातचीत
Image
IIT गांधीनगर की रिसर्च / भारत में नाले के गंदे पानी में कोरोनावायरस होने के प्रमाण मिले, देश में इस तरह की यह पहली रिसर्च हुई