महाराष्ट्र: लॉकडाउन फेज-3 का पांचवां दिन / उद्धव सरकार का ऐलान- फाइनल ईयर को छोड़कर यूनिवर्सिटी के बाकी छात्र बिना परीक्षा दिए अगली क्लास में प्रमोट होंगे

महाराष्ट्र: लॉकडाउन फेज-3 का पांचवां दिन / उद्धव सरकार का ऐलान- फाइनल ईयर को छोड़कर यूनिवर्सिटी के बाकी छात्र बिना परीक्षा दिए अगली क्लास में प्रमोट होंगे





मुंबई में बीमार बुजुर्ग को स्कूटी पर हॉस्पिटल ले जाते उसके परिवार के दो सदस्य।






  • महाराष्ट्र में 43 और लोगों की मौत के बाद कोरोना से मरने वालों की संख्या 694 हो गई, इनमें 24 मौतें मुंबई में हुईं

  • मुंबई में गुरुवार को संक्रमण के 692 और राज्य में 1216 केस सामने आए, अब कुल 17 हजार 974 संक्रमित


मुंबई. उद्धव सरकार ने कहा है कि लॉकडाउन के चलते फाइनल ईयर को छोड़कर यूनिवर्सिटी के बाकी छात्र बिना परीक्षा दिए अगली क्लास में प्रमोट होंगे। फाइनल ईयर के एग्जाम जुलाई में होंगे। वहीं, अलग-अलग देशों में फंसे भारतीयों की घर वापसी शुरू हो गई है। ‘वंदे भारत मिशन’ के तहत लगभग 15 हजार भारतीयों को विशेष विमानों से यहां लाया जा रहा है। मुंबई के भी 1900 यात्री लौटेंगे। बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) ने इन लोगों को क्वारैंटाइन करने के लिए शहर के 88 होटलों में 3343 कमरों का इंतजाम किया है। 7 मई से 64 स्पेशल फ्लाइट्स के जरिए देश के 14 हजार 800 लोगों को दुनियाभर के अलग-अलग देशों से वापस लाया जाएगा। 


महाराष्ट्र में गुरुवार को कोरोनावायरस के 1216 नए मामले सामने आए। 43 लोगों की मौत हुई। अकेले मुंबई में ही 692 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई और 24 लोगों ने दम तोड़ा। राज्य में अब 17 हजार 974 संक्रमित हैं। इस बीमारी से 694 लोगों ने जान गंवाई है। 


प्रवासी मजदूरों को मेडिकल सर्टिफिकेट नहीं लेना होगा
लॉकडाउन की वजह से राज्य में फंसे मजदूरों को अपने गांव जाने के लिए रेल यात्रा से पहले मेडिकल सर्टिफिकेट देने की शर्त सरकार ने वापस ले ली है। इस बारे में गुरुवार को नए दिशा-निर्देश जारी किए गए। सरकार ने यह साफ किया है कि अब ट्रेन में चढ़ने से पहले ही मजदूरों की फ्री मेडिकल जांच की जाएगी। यह जांच सरकारी डॉक्टर करेंगे। इस जांच के बाद एक ट्रेन से जाने वाले सभी प्रवासी यात्रियों का एक ही मेडिकल सर्टिफिकेट बनेगा।


शराब तस्करी रोकने के लिए अन्य राज्यों की सीमाएं सील


लॉकडाउन के दौरान पड़ोसी राज्यों से शराब की तस्करी रोकने की कवायद में महाराष्ट्र ने अपनी सीमाओं को सील कर दिया है। 12 जांच चौकियों पर पर्याप्त कर्मियों को तैनात किया गया है। प्रदेश में मुंबई को छोड़कर अन्य जगहों पर शराब की दुकानों को फिर से खोल गया है। 


औरंगाबाद में मालगाड़ी की चपेट में आकर 16 मजदूरों की मौत
महाराष्ट्र में शुक्रवार तड़के मालगाड़ी की चपेट में आकर 16 प्रवासी मजदूरों की मौत हो गई। हादसा औरंगाबाद के पास बदनापुर और करनाड स्टेशन के बीच हुआ। सभी मजदूर मध्य प्रदेश के थे और पैदल जा रहे थे। रात को आराम करने के लिए ये लोग पटरी पर ही सो गए थे। लोको पायलट ने नजर पड़ते ही इमरजेंसी ब्रेक भी लगाए, लेकिन तब तक देर हो चुकी थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी घटना पर दुख जताया है। 


77 कैदी और 26 जेल कर्मचारी भी कोरोना संक्रमित
आर्थर रोड जेल में 77 कैदी और 26 जेल कर्मचारी भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए। शुक्रवार सुबह इन्हें जीटी हॉस्पिटल और सेंट जॉर्ज हॉस्पिटल में भर्ती किया जाएगा। संक्रमित कैदी एक ही बैरक के हैं। उधर, मुंबई के जेजे मार्ग पुलिस स्टेशन में कोरोना के 26 पेशेंट मिलने से पुलिस महकमे में हड़कंप मचा है। गृह मंत्री अनिल देशमुख के मुताबिक, राज्य के करीब 500 पुलिसकर्मी कोरोना की चपेट में हैं। गुरुवार को सोलापुर में एक पुलिसकर्मी की कोरोना से मौत हो गई।


सिडको एग्जिबिशन सेंटर में फंसे 200 लोग 
मुंबई और नवी मुंबई से उत्तर प्रदेश और कर्नाटक के लिए निकले 200 लोग वाशी के सिडको एग्जिबिशन सेंटर में फंस गए। पिछले दिनों कर्नाटक से इन्हें लेने के लिए बस भी आई थी, लेकिन कर्नाटक सरकार से अनुमति नहीं मिलने के कारण वह बस खाली ही लौट गई। इनके खाने की व्यवस्था स्थानीय समाजसेवी कर रहे हैं।


प्रवासी मजदूरों को लाने की यूपी सरकार ने मंजूरी नहीं दी: कैबिनेट मंत्री
कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक का कहना है कि पहले यूपी सरकार प्रवासियों की कोविड-19 की जांच रिपोर्ट मांग रही थी। बाद में कहा कि वह केंद्रीय गृह मंत्रालय के दिशा-निर्देश के तहत वापसी को लेकर तैयार है। महाराष्ट्र से उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव के पास लिस्ट भेजी जा रही है, लेकिन वहां से कोई मंजूरी नहीं मिल रही है। लिस्ट पर अनुमति नहीं मिलने से प्रवासियों की वापसी में दिक्कत आ रही है। मलिक ने कहा कि कर्नाटक और पश्चिम बंगाल के प्रवासियों को भेजने में भी अड़चन आ रही है। वहां की राज्य सरकारों को निर्णय लेना चाहिए।


कोरोना मरीजों को दी जा रही तोसलिजुमाब दवा 
मुंबई के नायर अस्पताल में कोरोना के गंभीर मरीजों को तोसलिजुमाब दवा दी जा रही है। यह एक ऑटो इम्यून डिसऑर्डर की दवा है। अस्पताल के इंचार्ज डॉक्टर मोहन जोशी ने बताया कि अब तक 19 मरीजों को यह दवा दी है, इनमें से 16 मरीजों में 24 घंटे के अंदर सकारात्मक बदलाव नजर आए हैं।


छह जिमखानों को क्वारैंटाइन सेंटर बनाने की तैयारी में जुटा बीएमसी
बीएमसी ने दक्षिण मुंबई स्थित 6 जिमखानों को क्वारैंटाइन सेंटर बनाने की तैयारी शुरू कर दी है। बीएमसी सूत्रों के मुताबिक, इसमें पुलिस जिमखाना, कैथोलिक, ग्रांड मेडिकल, पीजी हिंदू जिमखाना, इस्लामिक और पारसी जिमखाना शामिल हैं। इन जिमखानों में ज्यादातर क्रिकेट एक्टिविटीज होती हैं। लॉकडाउन के बाद से ये खाली पड़े हैं। 


एसआरपी की तैनाती होनी चाहिए: राज ठाकरे 
मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने सरकार को सुझाव दिया कि कंटेनमेंट जोन में सुरक्षाबलों की संख्या बढ़ाई जाए। पुलिस कर्मचारी थक चुके हैं, इसलिए अब उनकी जगह पर एसआरपी को तैनात किया जाए। कई जगहों पर छोटे दवाखाने बंद हैं, इससे मरीजों की तकलीफ बढ़ती जा रही हैं। उन्हें तत्काल खोला जाए। प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए यहां-वहां अटके विद्यार्थियों को उनके घर भेजने की व्यवस्था तत्काल की जाए।


हॉस्पिटल की व्यवस्था ठीक करनी पड़ेगी: देवेंद्र फडणवीस
विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि मुंबई और राज्य में स्वास्थ्य सेवाओं पर अधिक ध्यान देने की जरूरत है। गंभीर मरीजों को तत्काल इलाज मिलना चाहिए। जो स्वास्थ्यकर्मी बीमार पड़ रहे हैं, उनके इलाज की भी व्यवस्था करनी होगी। उन्होंने सरकार से कहा कि कोरोना के अलावा अन्य बीमारियों के इलाज के लिए कहां-कहां क्या-क्या व्यवस्था है, किस अस्पताल में कितने बिस्तर उपलब्ध हैं, इसकी जानकारी देने के लिए एक डैशबोर्ड बनाना चाहिए।



Popular posts
लॉकडाउन में घर में घुस कर मध्यप्रदेश में नेत्रहीन महिला अधिकारी से रेप, परिजन दूसरे राज्य में फंसे 
उत्तराखंड के चारधाम / बद्रीनाथ को रोज चढ़ाई जाती है बद्रीतुलसी, यहां के बामणी गांव के लोग बनाते हैं ये माला
कोरोना इफेक्ट / एमिरेट्स एयरलाइंस ने 600 पायलटों और 6500 केबिन क्रू को निकाला, सितंबर तक कर्मचारियों की सैलरी में 50% कटौती जारी रहेगी
प्रसिद्ध समाजसेवी डॉ योगेश दुबे मुंबई की राजकुमार सोनी से बातचीत
Image
IIT गांधीनगर की रिसर्च / भारत में नाले के गंदे पानी में कोरोनावायरस होने के प्रमाण मिले, देश में इस तरह की यह पहली रिसर्च हुई