लॉकडाउन फेज-3 / दिल्ली से 1000 लोग स्पेशल ट्रेन से बेंगलुरु पहुंचे; सभी 14 दिन के लिए क्वारैंटाइन होंगे, होटल में रुकने का खर्च खुद उठाना होगा

लॉकडाउन फेज-3 / दिल्ली से 1000 लोग स्पेशल ट्रेन से बेंगलुरु पहुंचे; सभी 14 दिन के लिए क्वारैंटाइन होंगे, होटल में रुकने का खर्च खुद उठाना होगा




  • जो लोग होटल में क्वारैंटाइन नहीं होना चाहते हैं उनके लिए दूसरी जगह इंतजाम किए गए

  • राजस्थान में बिना लक्षण वालों को 14 दिन के लिए होम क्वारैंटाइन किया जाएगा


लॉकडाउन के बीच दिल्ली से कर्नाटक के लिए चलाई गई पहली विशेष ट्रेन गुरुवार को बेंगलुरु पहुंची। तय समय से करीब 40 मिनट देरी से पहुंची इस ट्रेन में एक हजार यात्री थे। इन सभी की जांच के लिए बेंगलुरु स्टेशन पर 10 काउंटर बनाए गए थे। रेलवे अधिकारियों के मुताबिक, सरकार ने बाहर से आने वाले सभी यात्रियों को 14 दिनों के लिए क्वारैंटाइन करने का फैसला किया है। ऐसे में इस ट्रेन के भी सभी यात्री क्वारैंटाइन किए जाएंगे।


बेंगलुरु में क्वारैंटाइन करने के लिए 90 होटल बुक


बेंगलुरु (शहरी) जिले के उपायुक्त जीएल शिवमूर्ति के मुताबिक, लोगों को क्वारैंटाइन करने के लिए बेंगलुरु स्टेशन के आस-पास 90 होटल बुक किए गए हैं। यहां रहने वालों को किराया खुद देना होगा। जो लोग होटल में नहीं रहना चाहते उनके लिए दूसरी जगह फ्री व्यवस्था भी की गई है। यात्रियों को स्टेशन से क्वारैंटाइन सेंटर तक ले जाने के लिए बेंगलुरु महानगर परिवहन निगम (बीएमटीसी) की 15 बसें  तैनात की गई हैं।


राजस्थान पहुंचने पर स्क्रीनिंग और रजिस्ट्रेशन जरूरी


राजस्थान सरकार दूसरे जगहों से आने वाले लोगों के लिए बुधवार को नई गाइडलाइन जारी कीं। राजस्थान पहुंचने वाले सभी लोगों की स्क्रीनिंग होगी और रजिस्ट्रेशन किया जाएगा। जिन लोगों में कोरोना के लक्षण पाए जाएंगे उन्हें कोविड केयर सेंटर भेजा जाएगा। जिनमें लक्षण नहीं पाए जाएंगे उन्हें 14 दिन के लिए घर में ही क्वारैंटाइन होना पड़ेगा। जिनके पास होम क्वारैंटाइन की व्यवस्था नहीं होगी उन्हें भी कोविड केयर सेंटर भेजा जाएगा।


ओडिशा ने लौटने वालों के लिए एसओपी जारी किया


ओडिशा ने भी दूसरे राज्यों और विदेशों से लौटने वाले लोगों के लिए बुधवार को नया स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोटोकॉल (एसओपी) जारी किया। विशेष ट्रेनों से आने वाले लोगों की जांच होगी। लक्षण मिलने पर  यात्रियों को सीधे क्वारैंटाइन सेंटर भेजा जाएगा। क्वारैंटाइन किए गए यात्रियों का अपडेट हर दिन कॉल सेंटर की मदद से लिया जाएगा। होम क्वारैंटाइन में भेजे गए लोगों के बारे में भी हर दिन जानकारी जुटाई जाएगी। राज्य के जो लोग विदेश से लौटना चाहते हैं उन्हें राज्य के पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करना जरूरी होगा।



Popular posts
IIT गांधीनगर की रिसर्च / भारत में नाले के गंदे पानी में कोरोनावायरस होने के प्रमाण मिले, देश में इस तरह की यह पहली रिसर्च हुई
कोरोना पर मौसम का असर / नमी घटने पर वायरस हल्के और बारीक होने से हवा में बने रहते हैं, इसीलिए ठंडा मौसम ज्यादा खतरनाक
कोरोना पॉजिटिव युवती पर संक्रमण फैलाने और पिता-भाई व कजिन पर जानकारी छिपाने का केस दर्ज
Image
चैरिटी मैच / हैवीवेट बॉक्सर माइक टायसन 15 साल बाद रिंग में लौटेंगे, पैसा जुटाकर गरीबों के लिए घर बनवाएंगे
एजुकेशन / सीबीएसई 10वीं और 12वीं की कॉपियों का मूल्यांकन आज से घर से ही करेंगे टीचर, गृह मंत्रालय ने दी मंजूरी