अयोध्या / हत्याकांड से नाराज ग्रामीणों ने भाजपा विधायक को दौड़ाया; गन्ने के खेतों से भागकर बचाई जान

अयोध्या / हत्याकांड से नाराज ग्रामीणों ने भाजपा विधायक को दौड़ाया; गन्ने के खेतों से भागकर बचाई जान





यहां इनायत नगर थाना क्षेत्र में डबल मर्डर के बाद पहुंचे विधायक गोरखनाथ बाबा को ग्रामीणों ने दौड़ा लिया।






  • अयोध्या जिले में इनायतनगर थाना क्षेत्र का मामला

  • मिल्कीपुर से विधायक गोरखनाथ बाबा ने झेला जनता का आक्रोश


अयोध्या. उत्तर प्रदेश के अयोध्या जिले में भाजपा से जुड़े ग्राम प्रधान की हत्या के बाद अंतिम संस्कार में शामिल होने पहुंचे भाजपा विधायक बाबा गोरखनाथ को जनता के आक्रोश को झेलना पड़ा। लोगों ने उन्हें खदेड़ लिया तो विधायक को गन्ने के खेत से होते हुए अपनी जान बचाकर भागना पड़ा। मौके पर मौजूद पुलिस वालों ने उन्हें सुरक्षित भीड़ से बचाया। इसके बाद विधायक गाड़ी में सवार होकर निकल गए।  


दो गुटों में चली थी गोलियां, भाजपा नेता व उनके प्रतिद्वंद्वी की हुई थी हत्या


अयोध्या जिले में सोमवार को इनायतनगर थाना इलाके के पलिया प्रताप शाह गांव में भाजपा से जुड़े ग्राम प्रधान जयप्रकाश सिंह व उनके पंचायत चुनाव में उम्मीदवार रहे राम पदारथ यादव के बीच गांव की एक पंचायत में वाद विवाद शुरू हो गया। जिसके बाद दोनों के गुटों में गोलियां चलीं। इसमें प्रधान जयप्रकाश सिंह व राम पदारथ यादव को एक दूसरे के विपक्षी गुटों ने गोली मारकर हत्या कर दी। राम पदारथ यादव की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। घायल प्रधान जयप्रकाश सिंह को जिला अस्पताल लाया गया, जहां उन्होंने दम तोड़ दिया था। 


विधायक पर चौकी इंचार्ज का ट्रांसफर रुकवाने का आरोप


भाजपा नेता जय प्रकाश सिंह का शव जब पोस्टमार्टम के बाद गांव पहुंचा तो सांसद लल्लू सिंह मौके पर पहुंचे। उन्होंने श्रद्धांजलि दी। उसके बाद क्षेत्रीय विधायक गोरखनाथ बाबा भी अपने समर्थकों के साथ शोक संवेदना प्रकट करने के लिए पहुंचे। उन्हें देखते ही ग्रामीण भड़क गए। उन्हें तत्काल मौके से भाग जाने की हिदायत दी गई। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि, तीन वर्षों से हैरिंग्टनगंज चौकी प्रभारी राजेश यादव विद्यमान था। इसकी शिकायत पुलिस विभाग से की गई थी। लेकिन, विधायक ने हर बार उसका स्थानांतरण रुकवाया। इसके चलते ये वारदात हुई। इसके बाद ग्रामीणों ने विधायक को दौड़ा लिया। हालात बेकाबू होते देख विधायक गन्ने के खेतों से भागे। उनके पीछे भीड़ दौड़ पड़ी। पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों ने विधायक गोरखनाथ बाबा को कड़ी सुरक्षा के उनके वाहन में बैठाकर हटा दिया। 



Popular posts
उत्तराखंड के चारधाम / बद्रीनाथ को रोज चढ़ाई जाती है बद्रीतुलसी, यहां के बामणी गांव के लोग बनाते हैं ये माला
कोरोना इफेक्ट / एमिरेट्स एयरलाइंस ने 600 पायलटों और 6500 केबिन क्रू को निकाला, सितंबर तक कर्मचारियों की सैलरी में 50% कटौती जारी रहेगी
प्रसिद्ध समाजसेवी डॉ योगेश दुबे मुंबई की राजकुमार सोनी से बातचीत
Image
IIT गांधीनगर की रिसर्च / भारत में नाले के गंदे पानी में कोरोनावायरस होने के प्रमाण मिले, देश में इस तरह की यह पहली रिसर्च हुई
अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव / अश्वेतों की नाराजगी भुनाने में जुटे डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बिडेन, युवाओं को लुभाने के लिए डिजिटल कैंपेन भी चलाएंगे