मृत अवस्था में अस्पताल लाई गई महिला भी संक्रमित, 14 दिन में 106 पॉजिटिव केस सामने आए

मृत अवस्था में अस्पताल लाई गई महिला भी संक्रमित, 14 दिन में 106 पॉजिटिव केस सामने आए




  • महाराव भीमसिंह चिकित्सालय में मृत अवस्था में लाई गई थी महिला।महाराव भीमसिंह चिकित्सालय में मृत अवस्था में लाई गई थी महिला।





  • सोमवार को कोटा में कोरोना के तीन नए मामले सामने आए, जिसमें एक महिला की मौत के बाद रिपोर्ट पॉजिटिव आई

  • 60 साल से अधिक उम्र के मरीजों के इलाज में परेशानी आई क्योंकि उनमें से कई मरीजों के अन्य बीमारियां भी




 



कोटा. सोमावर को शहर में सात नए कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए। जिसमें एक हॉटस्पॉट बन चुके मकबरा क्षेत्र से है। वहीं बाकी दो अलग-अलग क्षेत्रों से हैं। जिसमें से एक 35 साल की महिला संक्रमित मिली है। जो शहर के मोकापाड़ा की रहने वाली है। वहीं दूसरी 65 साल की महिला अनंतपुरा की रहने वाली है। जिनकी रिपोर्ट मौत के बाद पॉजिटिव पाई गई। महिला को मृत अवस्था में अस्पताल लाया गया था।


गौरतलब है कि 14 दिन के अंदर ही शहर ने 100 का आंकड़ा पार कर लिया है। मरीजों की संख्या के लिहाज से कोटा प्रदेश में चौथे स्थान पर पहुंच गया है। हालांकि इन सबके बीच कोटा से सुखद खबर भी है। शहर में अब तक कुल 9 मरीज पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं। इन्हें जल्द डिस्चार्ज किया जाएगा। 6 अप्रैल को एकसाथ 10 कोरोना पॉजिटिव मिलने से पूरा शहर दहशत में आ गया था। जिसके बाद अब तक 106 मरीज मिल चुके हैं।


बुजुर्गों के इलाज में आ रही दिक्कत
कोरोना के मरीजों का इलाज 6 अप्रैल से शुरू हो गया था। डॉ. सालूजा ने बताया कि कोटा में मरीज औसतन 6 दिन में ठीक हो रहे हैं। इसकी सबसे बड़ी वजह ये ही कि हमने रिपोर्ट पॉजिटिव मिलते ही लक्षणों का इंतजार किए बिना इलाज शुरू कर दिया। 60 साल से अधिक उम्र के मरीजों के इलाज में परेशानी आई क्योंकि उनमें से कई मरीजों के अन्य बीमारियां भी हैं।


शहर के ये दो जगह बनी हॉटस्पॉट
शहर के दो हॉटस्पॉट में से एक मकबरा एरिया में अब तक कुल 84 केस पॉजिटिव आ चुके हैं। वहीं तेलघर क्षेत्र में कुल 16 लोग संक्रमित मिले।


कैसे हुई थी शुरुआत


मकबरा क्षेत्र- एक टैक्सी ड्राइवर जयपुर से लौटा और जांच में पॉजिटिव मिला, बाद में पता चला कि उसकी भीलवाड़ा समेत अन्य कोरोना प्रभावित जिलों की भी ट्रैवल हिस्ट्री थी।
तेलघर क्षेत्र- एक 50 वर्षीय व्यक्ति की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में उसकी मौत हो गई। वो कोरोना पॉजिटिव आया। उसे जयपुर के रिश्तेदार से संक्रमण मिला था।


कैसे आगे बढ़ी चेन
मकबरा क्षेत्र- टैक्सी ड्राइवर के पड़ोसी पॉजिटिव आने लगे। रैंडम सैंपलिंग में रोगी के आसपास के घरों से भी पॉजिटिव मरीज आने लगे और अब आंकड़ा 84 पहुंच गया है।
तेलघर क्षेत्र- पहले दिन ही 50 साल के व्यक्ति के परिवार के 9 लोग पॉजिटिव आए, इसके बाद एक-एक कर परिवार के अन्य सदस्य भी पॉजिटिव आने लगे। अब तक यहां 16 पॉजिटिव आए हैं।


मकबरा क्षेत्र में क्यों बढ़ रहे मरीज



  • होम क्वारेंटाइन किए लोग भी बाहर निकलते रहे, लोगों ने मेडिकल टीमों का भी सहयोग नहीं किया।

  • भौगोलिक परिस्थितियां ठीक नहीं, तंग इलाका है, यह पुलिस के सामने भी बड़ी चुनौती।

  • पहले दिन से कर्फ्यू की ठीक से पालना नहीं हुई, मोहल्ले और सड़काें पर जमा हाे रही भीड़।


तेलघर में क्यों कंट्रोल हुई स्थिति



  • पहले दिन पुलिस ने सख्ती की, कर्फ्यू की ठीक से पालना हुई। स्थानीय लोगों ने सहयोग किया।

  • पुलिस ने स्वत: स्फूर्त पूरे क्षेत्र को सील कर दिया, आवाजाही पूरी तरह बंद कर दी गई।

  • लोगों ने भी रूल फॉलो किए, तंग गलियां न होने की वजह से यहां की भौगाेलिक परिस्थितियां भी अनुकूल हैं।



Popular posts
सीमा विवाद पर भारत की दो टूक / अफसरों ने कहा- चीन बॉर्डर से अपने 10 हजार सैनिक और हथियार हटाए, ऐसा होने पर ही पूरी तरह शांति कायम होगी
उत्तराखंड के चारधाम / बद्रीनाथ को रोज चढ़ाई जाती है बद्रीतुलसी, यहां के बामणी गांव के लोग बनाते हैं ये माला
प्रसिद्ध समाजसेवी डॉ योगेश दुबे मुंबई की राजकुमार सोनी से बातचीत
Image
अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव / अश्वेतों की नाराजगी भुनाने में जुटे डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बिडेन, युवाओं को लुभाने के लिए डिजिटल कैंपेन भी चलाएंगे
कोरोना इफेक्ट / एमिरेट्स एयरलाइंस ने 600 पायलटों और 6500 केबिन क्रू को निकाला, सितंबर तक कर्मचारियों की सैलरी में 50% कटौती जारी रहेगी