मप्र के विश्वविद्यालयों की शानदार उपलब्धि: महज 25 दिनों में लगीं विवि की नौ हजार ऑनलाइन कक्षाएं




भोपाल। लॉकडाउन में अकादमिक गतिविधियां ठप होने से कई लोग चिंतित हैं, ऐसे समय में मध्यप्रदेश के विश्वविद्यालयों ने सिर्फ 25 दिनों में 9 हजार ऑनलाइन कक्षाएं लगाकर एक नया कीर्तिमान रच दिया है। लॉकडाउन के दौरान प्रदेश के सरकारी विश्वविद्यालयों ने अकादमिक गतिविधियों को शिथिल नहीं होने दिया है। प्रदेशभर के 19 सरकारी विश्वविद्यालयों ने कमाल करते हुए 9 हजार ऑनलाइन कक्षाएं संचालित की हैं। वो भी महज 26 दिन की अवधि में। पिछले दिनों राज्यपाल लालजी टंडन द्वारा वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए की गई समीक्षा में यह खुलासा हुआ है। इस बैठक में सभी विश्वविद्यालयों ने अपना रिपोर्ट कार्ड पेश किया है। लॉकडाउन का असर अकादमिक विश्वविद्यालयों की गतिविधियों पर नहीं हो इसके लिए राज्यपाल टंडन भी लगातार न सिर्फ निर्देश देते रहे बल्कि लगातार इस बात की भी मॉनिटरिंग करते रहे कि विश्वविद्यालय और कॉलेज उन निर्देशों का पालन कर रहे हैं या नहीं। जिसका असर यह हुआ कि पूरी तरह से बंद होने के बावजूद विश्वविद्यालयों का अध्यापन कार्य जारी रहा।


पहली बार हुआ ऐसा
- इसी अवधि में न सिर्फ विश्वविद्यालयों में ऑनलाइन कक्षाएं संचालित की गई बल्कि 4 हजार वीडियो लेक्चर भी विभिन्न विश्वविद्यालयों ने अपनी वेबसाइट पर अपलोड किए हैं। इसके जरिए छात्र कभी भी अपने विषय का लेक्चर विश्वविद्यालय की वेबसाइट के जरिए ऑनलाइन देख सकते हैं।
- इस दौरान विश्वविद्यालयों में ऑडियो लेक्चर के जरिए ढाई हजार कक्षाएं संचालित की गई।
- करीब साढ़े आठ हजार पीडीएफ लेक्चर छात्र-छात्राओं को ऑनलाइन उपलब्ध कराए गए।
- इस अवधि में 398 रिसर्च पेपर का भी प्रकाशन किया गया।


इनका कहना है
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निर्णय के अनुपालन में विश्वविद्यालयों के स्टॉफ और विद्यार्थियों का योगदान विशिष्ट है। विद्यार्थियों को घर पर रहते हुए, उनकी पढ़ाई की संतोषजनक व्यवस्था करने, उनके शैक्षणिक पाठ्यक्रम अनुसार शैक्षणिक गतिविधियों का संयोजन कर विश्वविद्यालयों ने विद्यार्थियों की पढ़ाई का नुकसान नहीं होने दिया है। यह उपलब्धि प्रदेश के विश्वविद्यालयों के कुलपति, शिक्षक स्टॉफ और छात्र-छात्राओं के समन्वित प्रयासों का प्रतिफल है। 
-लाल जी टंडन, राज्यपाल मप्र


Popular posts