जंगल से फिर आई खुशखबरी / मुकुंदरा में बाघिन ने दिया दो शावकों को जन्म, मां के साथ नजर आए नन्हें टाइगर

जंगल से फिर आई खुशखबरी / मुकुंदरा में बाघिन ने दिया दो शावकों को जन्म, मां के साथ नजर आए नन्हें टाइगर





मुकुंदरा। टाइग्रेस एमटी2 अपने दो शावकों के साथ पहली बार नजर आई। शावक करीब ढाई माह के हैं।






  • इससे पहले मार्च में सरिस्कार से मिली थी गुडन्यूज

  • एक बाघिन ने तीन शावकों, दूसरी ने एक को जन्म दिया था


जयपुर. जयपुर। कोरोना काल में छाई मायूसी के बीच मुकुंदरा टाइगर रिजर्व से खुशखबरी आई है। यहां एक बाघिन ने दो शावकों को जन्म दिया है। बाघिन को अपने दो शावकों के साथ देखा गया है। दोनों शावक करीब ढाई माह के हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को ट्वीट कर इस शावकों के जन्म पर खुशी जताई। उन्होंने लिखा है, 2 जून को अच्छी खबर मिली है। मुकुंदरा टाइगर रिजर्व में बाघों की शिफ्टिंग के दो साल बाद बाघिन ने शावकों को जन्म दिया है। इनका आना हमारे लिए उत्साह जैसा है। हमें मिलकर बाघों का और वन्यजीवों का संरक्षण करना है। 


बाघिन को 2018 में यहां शिफ्ट किया गया था


इस बाघिन को 18 दिसंबर 2018 को रणथंभौर से यहां शिफ्ट किया गया था। विन विभाग के अनुसार दोनों शावक करीब ढाई महीने के हैं और स्वस्थ हैं। इन्हें करीब 50 मीटर की दूरी से कैमरे में कैद किया गया। इस बाघिन से पहले बाघ एमटी1 को यहां शिफ्ट किया गया था।  उल्लेखनीय है कि इस साल तीसरी बार जंगल से खुशखबरी आई है। इससे पहले दो बार सरिस्का से खुशखबरी मिल चुकी है।


सरिस्का से दो बार मिल चुकी गुड न्यूज
उल्लेखनीय है कि गत 26 मई को सरिस्का से खुशखबरी आई थी। सरिस्का में बाघिन (एसटी-12) ने तीन शावकों को जन्म दिया था। जंगल में लगाए गए कैमरों में तीनों शावक अपनी मां के साथ घूमते दिखाई दिए थे। शावकों की उम्र दो महीने से अधिक है। लॉकडाउन में सरिस्का से दूसरी बार वन्यजीव प्रेमियों के लिए अच्छी खबर मिली है। इससे पहले 31 मार्च को बाघिन (एसटी-10) के साथ एक शावक पानी के कुंड में अठखेलियां करते हुए कैमरे ने कैद हुआ था। सरिस्का में अब बाघ-बाघिनों की संख्या 20 हो गई है। इनमें 10 बाघिन, 6 बाघ और 4 शावक हैं। 



Popular posts
सीमा विवाद पर भारत की दो टूक / अफसरों ने कहा- चीन बॉर्डर से अपने 10 हजार सैनिक और हथियार हटाए, ऐसा होने पर ही पूरी तरह शांति कायम होगी
उत्तराखंड के चारधाम / बद्रीनाथ को रोज चढ़ाई जाती है बद्रीतुलसी, यहां के बामणी गांव के लोग बनाते हैं ये माला
प्रसिद्ध समाजसेवी डॉ योगेश दुबे मुंबई की राजकुमार सोनी से बातचीत
Image
अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव / अश्वेतों की नाराजगी भुनाने में जुटे डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बिडेन, युवाओं को लुभाने के लिए डिजिटल कैंपेन भी चलाएंगे
कोरोना इफेक्ट / एमिरेट्स एयरलाइंस ने 600 पायलटों और 6500 केबिन क्रू को निकाला, सितंबर तक कर्मचारियों की सैलरी में 50% कटौती जारी रहेगी