छात्रों को राहत / मध्य प्रदेश के 7 विश्वविद्यालयों के 597 केंद्रों पर 4 लाख से अधिक विद्यार्थी 29 जून से परीक्षाएं देंगे

छात्रों को राहत / मध्य प्रदेश के 7 विश्वविद्यालयों के 597 केंद्रों पर 4 लाख से अधिक विद्यार्थी 29 जून से परीक्षाएं देंगे





प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा ने दी जानकारी। उन्होंने बताया कि ग्रेजुएशन फर्स्ट ईयर और पोस्ट ग्रेजुएशन फर्स्ट सेमेस्टर 1 अक्टूबर से शुरू होगा।






  • 29 जून से 31 जुलाई के ग्रेजुएशन अंतिम वर्ष तथा पोस्ट ग्रेजुएशन चौथे सेमेस्टर की परीक्षाएं होंगी

  • स्नातक प्रथम वर्ष तथा स्नातकोत्तर के फर्स्ट सेमेस्टर का नया सत्र 1अक्टूबर से शुरू होगा


भोपाल. मध्य प्रदेश में सभी विश्वविद्यालयों में ग्रेजुएशन अंतिम वर्ष और पोस्ट ग्रेजुएशन के चौथे सेमेस्टर की परीक्षाएं 29 जून से 31 जुलाई के बीच आयोजित की जाएंगी। राज्य के 7 विश्वविद्यालयों के 4 लाख से अधिक छात्र परीक्षा देंगे। वहीं प्रदेश के आठवें विश्वविद्यालय छिंदवाड़ा में पहला सत्र इसी साल से शुरू होगा। 


प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा अनुपम राजन ने बताया कि परीक्षाएं प्रदेश भर में बनाए गए 597 केंद्रों पर होंगी। स्नातक अंतिम वर्ष के 3 लाख 4 हजार 853 विद्यार्थी और स्नातकोत्तर चौथे सेमेस्टर के करीब एक लाख विद्यार्थी ऑफलाइन परीक्षा में शामिल होंगे। रीवा विश्वविद्यालय को छोड़ कर शेष 6 विश्वविद्यालय में स्नातक स्तर की 25 फीसदी परीक्षाएं हो चुकी हैं। स्नातकोत्तर स्तर की परीक्षाएं किसी भी विश्वविद्यालय में नहीं हुई हैं। परीक्षाओं के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन करना होगा।


स्नातक प्रथम, द्वितीय वर्ष तथा स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर और अन्य पाठ्यक्रमों की नियमित परीक्षाएं स्थानीय स्तर पर परिस्थितियां सामान्य होने पर कराई जाएंगी। स्नातक कक्षाओं के प्रथम एवं द्वितीय वर्ष सेमेस्टर के छात्र-छात्राओं को अगली कक्षा में प्रवेश देकर एक सिंतबर 2020 से नया सत्र शुरू होगा। इस वर्ष के लिए स्नातक कक्षाओं और पाठ्यक्रमों के प्रथम वर्ष तथा स्नातकोत्तर प्रथम सेमेस्टर में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों का नया सत्र 1 अक्टूबर 2020 से शुरू होगा।


ये हैं प्रदेश के 7 विश्वविद्यालय : बरकतउल्लाह विश्वविद्यालय, भोपाल, जीवाजी विश्वविद्यालय, ग्वालियर, देवी अहिल्या विश्वविद्यालय, इंदौर, रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय, जबलपुर, अवधेश प्रताप  सिंह विश्‍वविद्यालय, रीवा, विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन और महाराजा छत्रसाल बुंदेलखंड विश्वविद्यालय, छतरपुर शामिल हैं। 



Popular posts
IIT गांधीनगर की रिसर्च / भारत में नाले के गंदे पानी में कोरोनावायरस होने के प्रमाण मिले, देश में इस तरह की यह पहली रिसर्च हुई
कोरोना पर मौसम का असर / नमी घटने पर वायरस हल्के और बारीक होने से हवा में बने रहते हैं, इसीलिए ठंडा मौसम ज्यादा खतरनाक
कोरोना पॉजिटिव युवती पर संक्रमण फैलाने और पिता-भाई व कजिन पर जानकारी छिपाने का केस दर्ज
Image
चैरिटी मैच / हैवीवेट बॉक्सर माइक टायसन 15 साल बाद रिंग में लौटेंगे, पैसा जुटाकर गरीबों के लिए घर बनवाएंगे
एजुकेशन / सीबीएसई 10वीं और 12वीं की कॉपियों का मूल्यांकन आज से घर से ही करेंगे टीचर, गृह मंत्रालय ने दी मंजूरी