उत्तर प्रदेश में हादसा / एक कप चाय की तलब ने 24 से ज्यादा लोगों की जिंदगी बचा ली, कुछ अब घर जाने की दूरी कभी तय नहीं कर पाएंगे

उत्तर प्रदेश में हादसा / एक कप चाय की तलब ने 24 से ज्यादा लोगों की जिंदगी बचा ली, कुछ अब घर जाने की दूरी कभी तय नहीं कर पाएंगे





औरैया में शनिवार तड़के हुए एक सड़क हादसे में 24 लोगों की मौत हो गई जबकि 35 मजदूर घायल हो गए।






  • उत्तर प्रदेश में औरैया में शनिवार सुबह एक सड़क हादसा हो गया, इसमें 24 मजूदरों की जान चली गई

  • चश्मदीदों के मुताबिक, यह हादसा उस समय हुआ जब कई मजूदर ट्रक रोककर चाय पी रहे थे


औरैया. उत्तर प्रदेश में आने वाले मजदूरों के साथ हादसे हो रहे हैं। कहीं रेलवे ट्रैक पर जान गंवा रहे हैं तो कहीं बस या ट्रक की टक्कर से एक पल में सब कुछ खत्म हो जा रहा है। मुजफ्फरनगर में बुधवार देर रात हुए हादसे के बाद अब औरैया की घटना इसी की गवाही दे रही है। कहा जा रहा है कि औरैया में 24 से ज्यादा और भी मजदूरों की जान जा सकती थी, अगर वे एक कप चाय के लिए न रुके होते। पुलिस के मुताबिक, दिल्ली से आए डीसीएम (मिनी ट्रक) में सवार कुछ लोग ढाबे पर चाय पीने के लिए रुके थे, तभी राजस्थान से आने वाले दूसरे ट्रक ने टक्कर मार दी। जो लोग बाहर थे, वे बच गए। बाकी दोनों वाहनों में सवार 24 लोगों की की जान चली गई, 35 लोग जख्मी हुए हैं।

डीसीएम में सवार ज्यादातर मजदूर बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के थे। एक लंबा सफर तय कर औरैया के पास चिरूहली इलाके में एक ढाबे पर पहुंचे थे। पूरी रात डीसीएम में काटने के बाद सुबह होने वाली थी। लेकिन, इसे मजदूरों की बदकिस्मती कहें या काल का कुचक्र कि वे सुबह का सूरज नहीं देख पाए। जिंदगी की अंगड़ाई, मौत की आहट को नहीं भांप सकी। काली रात ने चंद लम्हों में सब कुछ खत्म कर दिया।


सुबह होने से पहले चाय पीने के लिए रुके थे मजूदर
सुबह होने से पहले मजदूरों को चाय पीने की तलब लगी और शायद इसी चाय ने ही उनकी जिंदगी और मौत के बीच फासला कर दिया। हादसे में मरने वालों में ज्यादातर मजदूर टक्कर मारने वाले ट्रक में थे। इसमें 30 मजदूर सवार थे। इस ट्रक में चूने की बोरियां लदी थीं। कई मजदूर नींद में ही मौत के आगोश में समा गए। घटना के बाद सामने आई एक तस्वीर में मजदूरों के सामान के ढेर को भी देखा जा सकता है। हादसा राजस्थान से आ रहे ट्रक ड्राइवर को झपकी लगने से हुआ। टक्कर के बाद दोनों ट्रक पलट गए। 


यूपी के मुजफ्फरनगर में बुधवार देर रात 6 मजदूरों की जान गई थी


दो दिन पहले ही मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और बिहार में तीन हादसों में 16 मजदूरों की जान गई थी। मध्य प्रदेश के गुना में बस और कंटेनर की टक्कर में यूपी के 8 मजदूरों की मौत हुई। 54 जख्मी हो गए थे। इधर, उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में बुधवार देर रात रोडवेज की बस ने 6 मजदूरों कि कुचल दिया। ऐसा ही एक हादसा बिहार में भी हुआ था। यहां भी प्रवासियों की बस ट्रक से टकराई। दो लोगों की जान चली गई थी। इससे पहले नरसिंहपुर में भी आम से भरा ट्रक पलटने से यूपी के 5 मजदूरों की मौत हो गई थी। ये लोग ट्रक में छिपकर आगरा जा रहे थे।



Popular posts
उत्तराखंड के चारधाम / बद्रीनाथ को रोज चढ़ाई जाती है बद्रीतुलसी, यहां के बामणी गांव के लोग बनाते हैं ये माला
कोरोना इफेक्ट / एमिरेट्स एयरलाइंस ने 600 पायलटों और 6500 केबिन क्रू को निकाला, सितंबर तक कर्मचारियों की सैलरी में 50% कटौती जारी रहेगी
प्रसिद्ध समाजसेवी डॉ योगेश दुबे मुंबई की राजकुमार सोनी से बातचीत
Image
IIT गांधीनगर की रिसर्च / भारत में नाले के गंदे पानी में कोरोनावायरस होने के प्रमाण मिले, देश में इस तरह की यह पहली रिसर्च हुई
अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव / अश्वेतों की नाराजगी भुनाने में जुटे डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बिडेन, युवाओं को लुभाने के लिए डिजिटल कैंपेन भी चलाएंगे