सूर्यग्रहण : भारत में दिन में दिखाई देंगे तारे, छा जाएगा जोरदार अंधेरा - डॉ हुकुमचंद जैन ज्योतिषाचार्य

 




सूर्यग्रहण : भारत में दिन में दिखाई
देंगे तारे, छा जाएगा जोरदार अंधेरा

21 जून को मिथुन राशि में कंकण आकृति का दिखेगा सूर्यग्रहण

- राजकुमार सोनी

सूर्य ग्रहण से गेहूं, मूंग, तेल, गुड़,घी, सोना-चांदी, शेयर बाजार में भारी तेजी आएगी
ग्रहण के प्रभाव से तेज आंधी, भूकंप, बाढ़ से जनधन की हानि
6 माह के अंदर मप्र को छोड़कर किसी राज्य सरकार पर संकट

ग्वालियर। आपने ग्रहण बहुत देखे व सुने हैं पर इस बार ऐसा सूर्य ग्रहण पड़ेगा जिसमें काली पट्टी चलती नजर आएगी साथ ही अंधेरा हो जाएगा और रात्रि की तरह आकाश में तारे भी दिखाई देंगे। ज्योतिषाचार्य डॉ. हुकुमचंद जैन ने बताया कि इस बार आषाढ़ कृष्ण अमावस्या रविवार के दिन 21 जून को मिथुन राशि और मृगशिरा आद्र्रा नक्षत्र में कंकण आकृति/खंडग्रास सूर्य ग्रहण भारत, एशिया, अफ्रीका, दक्षिणी यूरोप के कई भाग हिंद महासागर,पेसिफिक महासागर में भी दिखाई देगा। ग्रहण का सूतक 1 दिन पहले रात्रि में 20 जून 2020 को रात्रि 10:20 से  प्रारंभ हो जाएगा अलग-अलग स्थानों पर ग्रहण का समय अलग-अलग होगा। वहां के अक्षांश व रेखांश में अंतर होने की वजह से जिन स्थानों पर ग्रहण का परमग्रास 94 फीसदी से अधिक होगा। उन स्थानों पर दिन में अंधेरा छा जाएगा और दिन में ही तारे नजर आएंगे।  डॉ. जैन ने बताया कि दिल्ली में ग्रहण सुबह 10:20 पर स्पर्श करेगा और 12:01 पर मध्य और 1:48 पर मोक्ष भोपाल में सुबह 10:14 से दोपहर 1:47 तक रहेगा। ग्वालियर में सुबह 10:19 से दोपहर 1:51 तक, शिमला में सुबह 10:23 से दोपहर 1:48 तक, हरिद्वार में सुबह 10:30 से 1:50 तक और हनुमानगढ़ में सुबह 1:15 से सुबह 10:15 से दोपहर 1:40 तक रहेगा। दिल्ली में परमग्रास 95 प्रतिशत हरिद्वार में और हनुमान गढ़ में 99 प्रतिशत शिमला में 97 रहेगा इन स्थानों पर दिन में ही तारे नजर आएंगे।
डॉ. जैन के अनुसार इस ग्रहण के प्रभाव से  गेहूं, मूंग, तेल, गुड़,घी, सोना-चांदी, शेयर बाजार में भारी तेजी आएगी। लॉकडाउन के चलते व्यापारी काला बाजारी पर भी उतर सकते हैं।

आंधी, भूकंप आएंगे
डॉ. जैन ने बताया कि सूर्यग्रहण के प्रभाव से 21 जून के बाद 3 माह तक तेज आंधी, हवा, चक्रवात के साथ अधिक वर्षा बाढ़ से जन धन की हानि। बिहार, मुंबई, महाराष्ट्र,केरल, उत्तराखंड बाले क्षेत्रो में वर्षा की अधिकता से हानि बाढ़ की स्थिति देखने मिलेगी। नए रोगों की उत्तपत्ति का भय रहेगा। डॉ. जैन का कहना है कि राजनैतिक पार्टियां आपस में एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगाएंगी। विश्व में भय का वातावरण बनेगा। मध्यप्रदेश को छोड़कर किसी एक राज्य की सरकार में 6 माह के अंदर सत्ता परिवर्तन देखने को मिलेगा।

राशियों पर प्रभाव
सूर्यग्रहण मेष, सिंह, कन्या, मकर राशियों के लिए लाभकारी है । वृष, मिथुन, कर्क, तुला, वृचिक धनु, मकर, कुंभ व मीन राशियों के लिए कष्टप्रद व हानि वाला रहेगा।




 


 

Popular posts
पेरू की पॉपुलर मंत्री / 35 साल की वित्त मंत्री मारिया बनीं स्टार, कोरोना के बीच आम लोगों और छोटे कारोबारियों के लिए रिकवरी पैकेज तैयार करने पर तारीफ मिल रही
शुभ संयोग : गुरु पुष्य नक्षत्र 30 अप्रैल : डॉ हुकुमचंद जैन ज्योतिषाचार्य
Image
अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव / अश्वेतों की नाराजगी भुनाने में जुटे डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बिडेन, युवाओं को लुभाने के लिए डिजिटल कैंपेन भी चलाएंगे
लोक अभियोजन अधिकारियों की न्याय दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका है - न्यायमूर्ति पाठक
Image
उत्तराखंड के चारधाम / बद्रीनाथ को रोज चढ़ाई जाती है बद्रीतुलसी, यहां के बामणी गांव के लोग बनाते हैं ये माला