साक्षात भगवान के दर्शन    

साक्षात भगवान के दर्शन    


   आज चलो हम साक्षात दर्शन कराते है 
   इस युग के भगवान के दर्शन कराते है 
   आँखे मूँदो भाव बनाओ दर्शन कराते है 
   घर बेठे हीं चारों धाम के दर्शन कराते है 
   साक्षात   भगवान  के दर्शन   कराते है ॥ 


   अब तुम अपने अंदर मन में झाकॊ तुम 
   माता पिता की कुर्बानी कॊ ध्याओ तुम 
   कैसे नौ महीने माँ नें तुम्हें कोख में रखा 
     कैसे लहू से सींच तुझे जीवन दिया है 
   उसकी ममता कॊ ना भूल    जाओ तुम 
   साक्षात  भगवान वही मान जाओ  तुम 
   घर बेठे ही चारों धाम के  दर्शन कराते है 
   साक्षात भगवान के हम दर्शन कराते है ॥ 


  माना मन्दिर मस्जिद गुरुद्वारे हमारे है 
  माना ईश्वर अल्लाह वाहे गुरु हमारे है 
  माना ये सब पूज्य भगवान  हमारे  है 
  माँ बाप हीं  साक्षात भगवान हमारे है
  घर बेठे ही  चारों धाम के दर्शन पाते है ॥ 


   माँ बाप की सेवा में  मन   लगाओ तुम 
   कभी उनको ना जीवन में ठुकराओ तुम 
   उनकी छत्र छाया भगवान का मन्दिर है 
   उनकी प्यारी सूरत मन में  बसाओ तुम 
   घर बेठे हीं चारों धाम के दर्शन पाओ तुम ॥ 


    चलो आज साक्षात हम दर्शन  कराते है 
    इस युग के भगवान के दर्शन  कराते है 
   .माता पिता हीं साक्षात भगवान हमारे है 
    चलो "लक्ष्य"  उनके चरणों में सर झुकाते है 
    सारे तीर्थ धाम का हम दर्शन पाते     है ॥ 


                 निर्दोष लक्ष्य जैन 
                     धनबाद ६२०१६९८०९६
                          १६।५।२०२०


Popular posts