पीएम-केयर फंड का मामला / सोनिया गांधी के खिलाफ कर्नाटक के शिवमोगा जिले में एफआईआर दर्ज, जनता को सरकार के खिलाफ भड़काने का आरोप

पीएम-केयर फंड का मामला / सोनिया गांधी के खिलाफ कर्नाटक के शिवमोगा जिले में एफआईआर दर्ज, जनता को सरकार के खिलाफ भड़काने का आरोप





शिकायत करने वाले का दावा है कि उसने कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से जुटाई जानकारी के आधार पर सोनिया गांधी के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है। 






  • कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से 11 मई को पीएम-केयर फंड पर सवाल उठाए गए थे

  • शिकायतकर्ता ने सोनिया को ट्विटर अकाउंट हैंडलर बताकर मामला दर्ज करवाया


शिवमोगा. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के खिलाफ कर्नाटक के शिवमोगा जिले में एफआईआर दर्ज हुई है। पीएम-केयर फंड को लेकर ट्वीट के सिलसिले में ये मामला दर्ज हुआ है। कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से 11 मई को ट्वीट कर पीएम-केयर फंड पर सवाल उठाए गए थे। एफआईआर में सोनिया को ट्विटर अकाउंट हैंडलर बताकर जिम्मेदार ठहराया गया है। शिकायतकर्ता वकील प्रवीण केवी का दावा है कि सोनिया ने भारत सरकार के खिलाफ बयान दिया और लोगों को सरकार के खिलाफ भड़काने की कोशिश की।


कांग्रेस के ट्वीट में क्या था?
ट्वीट में पीएम-केयर फंड को लेकर कहा गया था कि पीएम केयर नाम से ही स्पष्ट हो रहा है कि ये फंड जनता की नहीं प्रधानमंत्री की केयर के लिए बनाया गया है। अगर भाजपा सरकार में जनता की केयर करने की इच्छाशक्ति होती तो सड़कों पर प्रवासी मजदूरों के लंबे काफिले ना होते।


शिकायत करने वाले का ये भी दावा है कि पीएम-केयर फंड को पीएम-केयर फ्रॉड कहा गया था। ऐसा कहकर कांग्रेस ने कोरोना संकट में सरकार के खिलाफ अफवाह फैलाई। उसने कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से जुटाई जानकारी के आधार पर सोनिया गांधी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है।



Popular posts
उत्तराखंड के चारधाम / बद्रीनाथ को रोज चढ़ाई जाती है बद्रीतुलसी, यहां के बामणी गांव के लोग बनाते हैं ये माला
सीमा विवाद पर भारत की दो टूक / अफसरों ने कहा- चीन बॉर्डर से अपने 10 हजार सैनिक और हथियार हटाए, ऐसा होने पर ही पूरी तरह शांति कायम होगी
प्रसिद्ध समाजसेवी डॉ योगेश दुबे मुंबई की राजकुमार सोनी से बातचीत
Image
अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव / अश्वेतों की नाराजगी भुनाने में जुटे डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बिडेन, युवाओं को लुभाने के लिए डिजिटल कैंपेन भी चलाएंगे
कोरोना इफेक्ट / एमिरेट्स एयरलाइंस ने 600 पायलटों और 6500 केबिन क्रू को निकाला, सितंबर तक कर्मचारियों की सैलरी में 50% कटौती जारी रहेगी