महाराष्ट्र: लॉकडाउन फेज-3 का 11वां दिन / मुंबई के कोविड अस्पतालों में सभी 3500 बेड फुल; मरीज बढ़ने से बेड के बीच की दूरी कम की गई


महाराष्ट्र: लॉकडाउन फेज-3 का 11वां दिन / मुंबई के कोविड अस्पतालों में सभी 3500 बेड फुल; मरीज बढ़ने से बेड के बीच की दूरी कम की गई








मुंबई के वडाला स्थित एकवर्थ हॉस्पिटल में कोविड-19 मरीजों के इलाज के लिए 30 बेड का एक वार्ड तैयार किया गया।






  • छले 24 घंटों में बेड के बीच की दूरी को कम करके शहर के अलग-अलग अस्पतालों में 1500 नए बेड जोड़े गए

  • राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या 25,922 हुई, वहीं संक्रमण से जान गंवाने वालों का आंकड़ा 975 पर पहुंच गया


मुंबई. मुंबई में कोरोना संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। इससे कोविड अस्पतालों में मरीजों के तैयार किए गए सभी 3500 बेड भर गए हैं। मजबूरन अस्पतालों को सोशल डिस्टेंसिंग को दरकिनार कर दो बेड के बीच में एक बेड और लगाना पड़ रहा है। ऐसे में अस्पतालों ने ज्यादा से ज्यादा कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए दो बेड के बीच के अंतर को कम करने का फैसला लिया है। बृहन्मुंबई महानगर पालिका के अफसर ने बताया कि मरीज पहले से ही संक्रमित हैं, इसलिए दोनों बेड के बीच के अंतर को कम किया जा सकता है। जानकारी के मुताबिक, पिछले 24 घंटों में बेड के बीच की दूरी को कम करके शहर के अलग-अलग अस्पतालों में 1,500 नए बेड जोड़े गए। उदाहरण के लिए नायर अस्पताल में बेड की संख्या 336 से 800 हो गई है, केईएम अस्पताल में 200 से 220 बेड और सेंट जॉर्ज में 400 से 690 हो गई है। 

निजी अस्पतालों को 200 वेंटिलेटर बेड तैयार रखने को कहा गया 
मुंबई के सरकारी अस्पतालों में मौजूद  250 वेंटिलेटर इस्तेमाल किए जा रहे हैं। बीएमसी की ओर से निजी अस्पतालों को कहा गया है कि वे अपने कार्डियक केयर यूनिट्स में तत्काल प्रभाव से 200 वेंटिलेटर बेड की व्यवस्था करें। बीएमसी का मानना है कि इस महीने के अंत तक मुंबई में 50,000 मरीज हो सकते हैं। उधर, बॉम्बे हाई कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार से गरीबों, जरूरतमंदों और प्रवासी मजदूरों की पहचान के लिए सर्वे कराने के लिए कहा है। ताकि इन्हें मुफ्त राशन किट मुहैया कराई जा सके।महाराष्ट्र में 24 घंटे में 54 मौतें हुईं
राज्य में बुधवार को 1,495 नए पॉजिटिव मिले। यह एक दिन में पॉजिटिव मिले मरीजों का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इसके अलावा पिछले 24 घंटों में राज्य में संक्रमण से 54 मौतें हुईं। इनमें मुंबई में 40 की जान गई। राज्य में अब कोरोना संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 25,922 पहुंच गई है। वहीं, संक्रमण से जान गंवाने वालों का आंकड़ा 975 पर पहुंच गया है। राज्य में अब तक 5,547 मरीज कोरोना को मात देकर ठीक हो चुके हैं।

‘टोसिलिजुमैब’ नाम की नई दवाई का इस्तेमाल शुरू 
मुंबई में बीएमसी के हॉस्पिटल में गंभीर रूप से बीमार चल रहे कोरोना मरीजों को ‘टोसिलिजुमैब’ (Tocilizumab ) नाम की दवा का इंजेक्शन लगाया जा रहा है। बीएमसी अधिकारियों ने बताया कि इससे मरीजों की स्थिति में सुधार भी देखने को मिला है। बीएमसी के मुताबिक, मुंबई के बीएमसी मेडिकल कॉलेज, सायन अस्पताल, नायर अस्पताल, केइएम और सेवन हिल्स अस्पताल में टोसिलिजुमैब इंजेक्शन का इस्तेमाल शुरू कर दिया गया है। अब तक कुल 40 मरीजों पर इसका इस्तेमाल किया गया, जो इस वायरस से गंभीर रूप से प्रभावित थे और इनमें से 30 से ज्यादा मरीजों में अच्छे परिणाम भी देखने को मिले हैं।


महाराष्ट्र: प्रवासी मजदूरों को घर भेजने के लिए राज्य सरकार देगी 54.7 करोड़




  • महाराष्ट्र में फंसे दूसरे राज्यों के मजदूरों को उनके घर भेजने तथा दूसरे राज्यों में अटके महाराष्ट्र के लोगों को यहां लाने के लिए राज्य सरकार ने 54.75 करोड़ रुपए मंजूर किए हैं। सरकार यह पैसा जिला कलेक्टर को मुहैया कराएगी, ताकि कलेक्टर मजदूरों के लिए रेल टिकट का इंतजाम कर सकें। 



  • महाराष्ट्र में शराब की दुकानों पर लोगों की भीड़ रोकने के लिए 15 मई से शराब की होम डिलीवरी शुरू की जाएगी।







Popular posts
लॉकडाउन में घर में घुस कर मध्यप्रदेश में नेत्रहीन महिला अधिकारी से रेप, परिजन दूसरे राज्य में फंसे 
उत्तराखंड के चारधाम / बद्रीनाथ को रोज चढ़ाई जाती है बद्रीतुलसी, यहां के बामणी गांव के लोग बनाते हैं ये माला
कोरोना इफेक्ट / एमिरेट्स एयरलाइंस ने 600 पायलटों और 6500 केबिन क्रू को निकाला, सितंबर तक कर्मचारियों की सैलरी में 50% कटौती जारी रहेगी
प्रसिद्ध समाजसेवी डॉ योगेश दुबे मुंबई की राजकुमार सोनी से बातचीत
Image
IIT गांधीनगर की रिसर्च / भारत में नाले के गंदे पानी में कोरोनावायरस होने के प्रमाण मिले, देश में इस तरह की यह पहली रिसर्च हुई