कोरोना पर सरकार / रोज 100 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाने की योजना; 24 घंटे में 1500 से ज्यादा लोग स्वस्थ, 11 दिनों में रिकवरी रेट 6% बढ़कर 31.5% हुआ

कोरोना पर सरकार / रोज 100 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाने की योजना; 24 घंटे में 1500 से ज्यादा लोग स्वस्थ, 11 दिनों में रिकवरी रेट 6% बढ़कर 31.5% हुआ





श्रमिक स्पेशल ट्रेन से कोयंबटूर से बिहार पहुंचे प्रवासी मजदूरों का मेडकल चेकअप हुआ। इसके बाद उनके हाथों पर निशान लगाकर 14 दिनों तक क्वारैंटाइन सेंटर में भेजा गया।






  • गृह मंत्रालय ने दी जानकारी, सभी राज्य सरकारों को निर्देश दिया- पैदल घर जा रहे मजदूरों के लिए बसों का प्रबंध कराएं

  • स्वास्थ्य मंत्रालय की संदिग्ध संक्रमितों के लिए नई गाइडलाइन- जिन लोगों में कम लक्षण हैं, उन्हें तीन दिन बुखार न आने पर हॉस्पिटल से डिस्चार्ज किया जाएगा


नई दिल्ली. गृह मंत्रालय ने सोमवार को बताया कि अभी तक 468 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से देश के विभिन्न जगहों पर फंसे 5 लाख प्रवासी मजदूरों, छात्रों, सैलानियों को उनके घर तक पहुंचाया गया है। मंत्रालय की संयुक्त सचिव पुण्यसलिला श्रीवास्तव ने कहा कि अब अगले 2 हफ्ते तक रोजाना कम से कम 100 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाने की तैयारी है। इसके लिए रणनीति तैयार की जा चुकी है। पैदल अपने घरों के लिए निकले लोगों को भी राज्य सरकारें बसों से उनके घर तक पहुंचाएंगी।
श्रीवास्तव ने बताया कि सभी राज्यों और केंद्र शासित राज्यों के मुख्य सचिवों और स्वास्थ्य सचिवों के साथ सोमवार को बैठक हुई है। इसमें सभी को निर्देश दिया गया है कि वह प्रवासियों मजदूरों को हर संभव सहायता प्रदान करें। उन्हें रेल की पटरियों का प्रयोग करने से रोकें। अगर ज्यादा संख्या में मजदूर पैदल चलते दिखें तो विशेष बस का प्रबंध कराकर उनके घर तक पहुंचाएं।


11 दिनों  में रिकवरी रेट में 6% का इजाफा 


स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि पिछले 24 घंटे में 4213 केस बढ़े हैं। वहीं 1559 लोग ठीक हुए हैं। रिकवरी रेट में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। पिछले 11 दिनों में 6% का इजाफा हुआ है। 1 मई को रिकवरी रेट 25.37% था जो अब 31.5% पहुंच गया है। 


पिछले 11 दिनों का रिवकरी रेट 





















































तारीखरिकवरी रेट
11 मई31.5%
10 मई30.76%
9 मई29.9%
8 मई                29.36%              
7 मई28.83%
6 मई28.72%
5 मई27.41%
4 मई27.52%
3 मई26.59%
2 मई26.65%
1 मई25.37%

तीन दिन बुखार न आने पर कर दिया जाएगा डिस्चार्ज


अग्रवाल ने बताया कि कोरोना संक्रमितों के लिए नई गाइडलाइन जारी की है। इसके अनुसार जिन लोगों में कम लक्षण हैं उन्हें अगर तीन दिन बुखार नहीं आता है तो उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया जाएगा। हालांकि ऐसे लोगों को सात दिनों तक आइसोलेशन में रखा जाएगा। वहीं जिन लोगों को पहले से एचआईवी जैसे इम्युनो समस्या हैं उन्हें पूरी तरह से ठीक होने के बाद ही डिस्चार्ज किया जाएगा।


आरोग्य सेतु एप अब 12 भाषाओं में, डेटा लीक होने की खबरें बेकार
केंद्र सरकार की ओर से बनाई गई एम पॉवर ग्रुप के चेयरमैन ने आरोग्य सेतु एप के बारे में जानकारी दी। बताया कि ये एप अब 12 भाषाओं में उपलब्ध है। अब तक इसके 9.8 करोड़ यूजर्स हैं। सबसे तेज 5 करोड़ यूजर्स बनने वाला दुनिया का पहला एप बन चुका है। ग्रुप के मुताबिक इस एप के जरिए 13 हजार लोग संक्रमितों की पहचान हो पाई है। इसके अलावा 1 लाख 40 हजार लोग ऐसे भी मिले जो संक्रमित लोगों की संपर्क में आए थे। ग्रुप ने एप के डेटा लीक की खबरों का खंडन किया। उन्होंने कहा कि आरोग्य सेतु से जुड़े डेटा किसी को नहीं दिया जाता। 30 दिन के भीतर आम यूजर्स के डेटा हटा दिया जाता है। जिनका टेस्ट किया जा रहा है उनका डेटा 45 दिन तक सर्वर पर रखा जाता है। जिनका इलाज चल रहा है उनका डेटा उनके ठीक होने तक तक रखा जाता है और उसके बाद हटा दिया जाता है।



Popular posts
सीमा विवाद पर भारत की दो टूक / अफसरों ने कहा- चीन बॉर्डर से अपने 10 हजार सैनिक और हथियार हटाए, ऐसा होने पर ही पूरी तरह शांति कायम होगी
सीमा पर तनाव घटा / पूर्वी लद्दाख में गालवन इलाके से चीन ने सेना और बख्तरबंद गाड़ियां ढाई किमी पीछे बुलाईं, भारत ने भी जवान कम किए
टेबल टेनिस / शरत कमल ने कहा- टोक्यो ओलिंपिक में सिंगल्स में मेडल जीतना मुश्किल, पर डबल्स में मौका
Image
सिंधिया परिवार में कोरोना / ज्योतिरादित्य और उनकी मां कोरोना पॉजिटिव, दिल्ली के अस्पताल में भर्ती; परिवार के तीन सदस्यों की रिपोर्ट निगेटिव आई
IIT गांधीनगर की रिसर्च / भारत में नाले के गंदे पानी में कोरोनावायरस होने के प्रमाण मिले, देश में इस तरह की यह पहली रिसर्च हुई