हरियाणा में 730 केस / फरीदाबाद में चौथी और प्रदेश में कोरोना से 11वीं मौत, एक दिन में 37 मरीजों को मिली अस्पताल से छुट्टी

हरियाणा में 730 केस / फरीदाबाद में चौथी और प्रदेश में कोरोना से 11वीं मौत, एक दिन में 37 मरीजों को मिली अस्पताल से छुट्टी





करनाल के रायसन गांव में राशन डिपो होल्डर से राशन लेने के लिए लाइन में खडे लोग।






  • पानीपत में नाई और ब्यूटी पार्लर की दुकानों को मिली अनुमति

  • अब तक 337 मरीज ठीक हुए, अब कुल 382 एक्टिव मरीज 


पानीपत. हरियाणा में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 730 पर पहुंच गया। सोमवार को हरियाणा में कोरोना की वजह से 11वीं मौत हो गई। यह मौत फरीदाबाद में हुई, यहां अब तक चार मौत हो चुकी हैं। सोमवार को 25 नए मरीज मिले हैं। इसके बाद अब कुल मरीजों की संख्या 730 पर पहुंच गई। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, सोमवार को झज्जर में 9, फरीदाबाद में 7, सोनीपत में 5, गुड़गांव में 3 और चरखी दादरी में एक केस सामने आया है। वहीं सोमवार को एक दिन में 37 मरीजों को अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया। अब तक 337 मरीज ठीक हो चुके हैं। अब अस्पतालों में 382 एक्टिव मरीज हैं। पानीपत में नाई और ब्यूटी पार्लर की दुकानों को खोलने की अनुमति मिल गई है। 


हरियाणा के इन जिलों में हो चुकी है कोरोना से मौत
कोरोना की वजह से फरीदाबाद में सबसे ज्यादा 4, पानीपत जिले में 3, अम्बाला में 2, करनाल और रोहतक में 1-1 मरीज की मौत हो चुकी है। मरने वाले सभी मरीजों में कोई न कोई बीमारी थी, उसके बाद कोरोना हुआ और उनकी मौत हो गई। 


पानीपत में नाई और ब्यूटी पार्लर की दुकानों को खोलने की अनुमति मिली
पानीपत की उपायुक्त हेमा शर्मा ने अन्य दुकानों के अलावा नाई व ब्यूटी पार्लर की दुकानों को भी खोलने की अनुमति प्रदान कर दी है।  सड़क के दाईं ओर मंगलवार, गुरुवार व शनिवार को प्रात: 8 से दोपहर 2 बजे तक व सड़क के बाईं ओर सोमवार, बुधवार व शुक्रवार को प्रात: 8 बजे से दोपहर 2 बजे तक दुकानें खुली रहेंगी। मास्क व सेनिटाइजर के साथ-साथ सोशल डिस्टेसिंग की पालना करना अनिवार्य होगा।


10 दिन में 50 फीसदी से ज्यादा बढ़ा कोरोना


मई महीने में कोरोना ने रफ्तार पकड़ ली है। महीने की शुरुआत के 10 दिनों के अंदर ही 50 प्रतिशत से ज्यादा मामले आ चुके हैं। 1 मई को हरियाणा में 357 कुल कोरोना पॉजिटिव थे, जबकि 11 मई को हरियाणा में 730 कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं। महज 10 दिनों के अंदर 373 मरीज बढ़े हैं। 


दिल्ली से लगते 5 जिलों में 67 प्रतिशत से ज्यादा मरीज
हरियाणा के सबसे ज्याद मरीज 5 जिलों में हैं, जो दिल्ली से लगे हुए हैं। इन्हीं जिलों में पूरे प्रदेश के 67 प्रतिशत से ज्यादा मरीज मौजूद हैं। गुरुग्राम इस समय टॉप पर चल रहा है। यहां कुल मरीजों की संख्या 145 पर पहुंच गई। इसके बाद सोनीपत में 105, फरीदाबाद में 102, झज्जर में 83, नूंह में 60 मरीज मिले हैं। एक नूंह जिले को छोड़ दें तो बाकी के अन्य जिलों में दिल्ली से नजदीकी होने के चलते मरीजों की संख्या में खासा इजाफा हुआ है। नूंह जिले में शुरुआती दौर में जमातियों के मिलने से कोरोना फैला था। वहां अब मरीजों की संख्या ज्यादा नहीं मिल रही है। 


हरियाणा में मरीजों का आंकड़ा 730 पहुंचा



  • हरियाणा में अब तक गुड़गांव में 145, सोनीपत में 105, फरीदाबाद में 102, झज्जर में 83, नूंह में 59, अम्बाला में 41, पलवल में 37, पानीपत में 36, पंचकूला में 22, जींद में 17, करनाल में 14, यमुनानगर में 8, सिरसा और फतेहाबाद में 7-7, भिवानी और रोहतक में 6, महेंद्रगढ़ में 5, हिसार और चरखी दादरी में 4-4, कैथल और रेवाड़ी में 3-3, कुरुक्षेत्र में 2 पॉजिटिव मिले। इसके अलावा, मेदांता अस्पताल गुड़गांव में 14 इटली के नागरिकों को भी भर्ती करवाया गया था, जिन्हें हरियाणा ने अपनी सूची में जोड़ा है।

  • प्रदेश में अब कुल 337 मरीज ठीक हो गए हैं। नूंह में 57, गुड़गांव में 51, फरीदाबाद में 55, अम्बाला में 38, पलवल 33, सोनीपत में 24, पंचकूला में 18, झज्जर में 10, पानीपत में 8, करनाल में 5, सिरसा और यमुनानगर में 4-4, यमुनानगर, भिवानी और हिसार में 3-3, कैथल, कुरुक्षेत्र, रोहतक में 2-2, चरखी दादरी, फतेहाबाद 1-1 मरीज ठीक होने पर घर भेजा गया। 14 मरीज इटली के भी ठीक हुए हैं। 



Popular posts
सीमा विवाद पर भारत की दो टूक / अफसरों ने कहा- चीन बॉर्डर से अपने 10 हजार सैनिक और हथियार हटाए, ऐसा होने पर ही पूरी तरह शांति कायम होगी
सीमा पर तनाव घटा / पूर्वी लद्दाख में गालवन इलाके से चीन ने सेना और बख्तरबंद गाड़ियां ढाई किमी पीछे बुलाईं, भारत ने भी जवान कम किए
टेबल टेनिस / शरत कमल ने कहा- टोक्यो ओलिंपिक में सिंगल्स में मेडल जीतना मुश्किल, पर डबल्स में मौका
Image
सिंधिया परिवार में कोरोना / ज्योतिरादित्य और उनकी मां कोरोना पॉजिटिव, दिल्ली के अस्पताल में भर्ती; परिवार के तीन सदस्यों की रिपोर्ट निगेटिव आई
IIT गांधीनगर की रिसर्च / भारत में नाले के गंदे पानी में कोरोनावायरस होने के प्रमाण मिले, देश में इस तरह की यह पहली रिसर्च हुई