घरेलू उड़ानों के टिकट महंगे नहीं होंगे / उड्डयन मंत्री ने कहा- तीन महीने किराया फिक्स रहेगा; दिल्ली-मुंबई का मिनिमम किराया 3500 रुपए और मैक्सिमम 10 हजार होगा

घरेलू उड़ानों के टिकट महंगे नहीं होंगे / उड्डयन मंत्री ने कहा- तीन महीने किराया फिक्स रहेगा; दिल्ली-मुंबई का मिनिमम किराया 3500 रुपए और मैक्सिमम 10 हजार होगा




  • 25 मई से घरेलू उड़ानें शुरू होंगी, फ्लाइट के रूट को समय के आधार पर 7 कैटेगरी में बांटा

  • यात्रियों को सेल्फ डिक्लेरेशन या आरोग्य सेतु ऐप के स्टेटस के जरिए हेल्थ के बारे में बताना होगा


नई दिल्ली. नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर 25 मई से शुरू होने वाली घरेलू उड़ानों और किरायों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि उड़ान शुरू होने के दिन से अगले तीन महीने तक के लिए किराए फिक्स कर दिए गए हैं। ताकि, एयरलाइन मनमानी नहीं कर सकें। दिल्ली-मुंबई का 90-120 मिनट की उड़ान का मिनिमम किराया 3 हजार 500 रुपए और मैक्सिमम 10 हजार रुपए होगा।

फ्लाइट के रूट को समय के आधार पर 7 कैटेगरी में बांटा
1. 40 मिनट से कम की उड़ान
2. 40-60 मिनट
3. 60-90 मिनट
4. 90-120 मिनट
5. 120-150 मिनट
6. 150-180 मिनट
7. 180-210 मिनट

40% सीटें सस्ते में मिलेंगी
पुरी के साथ मौजूद रहे सिविल एविएशन सेकेट्री प्रदीप सिंह खरौला ने बताया कि 40% सीटें प्राइस बैंड के मिडपॉइंट के कम प्राइस पर बेची जाएंगी। उन्होंने उदाहरण दिया कि 3 हजार 500 रुपए से 10 हजार रुपए के प्राइस बैंड का मिडपॉइंट 6 हजार 700 रुपए होता है। यानी इस प्राइस बैंड में 40% सीटें 6 हजार 700 रुपए से कम प्राइस पर बुक करनी होंगी।


मिडिल सीट भी बुक होगी
पुरी ने बताया शुरुआत में एक तिहाई फ्लाइट ही ऑपरेट की जाएंगी। एक बार शुरुआत करने के बाद 4-5 दिन देखेंगे, हालात सही लगे तो 10-15 फीसदी और बढ़ा देंगे।दो यात्रियों के बीच की सीट खाली रखेंगे तो भी सोशल डिस्टेंसिंग लागू नहीं हो पाएगी, इसलिए एयरलाइंस को मिडिल सीट बुक करने की परमिशन होगी।


वंदे भारत मिशन के जरिए 17 दिन में 20 हजार भारतीयों को वापस लाए
पुरी ने कहा कि 5 मई को वंदे भारत मिशन की शुरुआत हुई और इसके तहत अब तक 20 हजार भारतीयों को लाया गया है। आज 21 मई है और सच्चाई ये है कि हम स्थितियों को सामान्य करने और नई शुरुआत करने के मामले में पहले से ज्यादा आत्मविश्वास से भरे हुए हैं। हम अभी भी विदेशों में फंसे उन भारतीयों को वापस लाने की कोशिश में जुटे हुए हैं, जो तनाव और मुश्किलों का सामना कर रहे हैं। यही वंदे भारत मिशन का उद्देश्य है। बीते दो हफ्ते में हम वंदे भारत मिशन में तेजी लाए। इसके तहत लाने वाले लोगों की संख्या दोगुनी की, इसे और बढ़ाने का प्लान है।



Popular posts
उत्तराखंड के चारधाम / बद्रीनाथ को रोज चढ़ाई जाती है बद्रीतुलसी, यहां के बामणी गांव के लोग बनाते हैं ये माला
सीमा विवाद पर भारत की दो टूक / अफसरों ने कहा- चीन बॉर्डर से अपने 10 हजार सैनिक और हथियार हटाए, ऐसा होने पर ही पूरी तरह शांति कायम होगी
प्रसिद्ध समाजसेवी डॉ योगेश दुबे मुंबई की राजकुमार सोनी से बातचीत
Image
अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव / अश्वेतों की नाराजगी भुनाने में जुटे डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बिडेन, युवाओं को लुभाने के लिए डिजिटल कैंपेन भी चलाएंगे
कोरोना इफेक्ट / एमिरेट्स एयरलाइंस ने 600 पायलटों और 6500 केबिन क्रू को निकाला, सितंबर तक कर्मचारियों की सैलरी में 50% कटौती जारी रहेगी