एक जून से 200 ट्रेनें चलेंगी / ढाई घंटे में 4 लाख से ज्यादा रेल टिकट बुक हुए; कल से देश के 1.7 लाख सेंटरों से भी टिकट मिलेंगे, रेल मंत्री बोले- जल्दी ही ट्रेनें बढ़ाएंगे

एक जून से 200 ट्रेनें चलेंगी / ढाई घंटे में 4 लाख से ज्यादा रेल टिकट बुक हुए; कल से देश के 1.7 लाख सेंटरों से भी टिकट मिलेंगे, रेल मंत्री बोले- जल्दी ही ट्रेनें बढ़ाएंगे





रेलवे ने लॉकडाउन के बीच प्रवासी मजदूरों के घर लौटने के लिए 1 मई से श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई थीं।






  • रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि रेलवे स्टेशन पर दुकानों को खोलने की मंजूरी मिलेगी, यहां से यात्री सामान ले जा सकेंगे

  • देशभर में रेलवे की 12 हजार ट्रेनें जनता कर्फ्यू के दिन 22 मार्च से बंद कर दी गई थीं

  • 1 मई से प्रवासी मजदूरों के लिए श्रमिक स्पेशल और 12 मई से 15 स्पेशल ट्रेनें शुरू की गईं


नई दिल्ली. कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच रेलवे 1 जून से 200 ट्रेनों की शुरुआत करेगा। गुरुवार को 10 बजे से इनके लिए ऑनलाइन बुकिंग शुरू हो गई। महज 2.30 घंटे में 4 लाख से ज्यादा लोगों ने टिकट बुक करा लिया। अब रेलवे ने कल यानी शुक्रवार 22 मई से ऑफलाइन टिकट बुकिंग की सुविधा देने का ऐलान किया है।
रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि यह सुविधा देश के 1.7 लाख कॉमन सर्विस सेंटर्स (सीएससी) पर होगी। इन सेंटर्स पर जाकर लोग ऑफलाइन टिकट बुक करा सकेंगे। उन्होंने आने वाले दिनों में कई और ट्रेनें चलाने और रेलवे स्टेशन पर दुकानों को भी खोलने की मंजूरी देने की बात कही। 


पहले ही दिन एक हफ्ते की सारी ट्रेनें फुल


एक जून से चलने वाली ट्रेनों की बुकिंग शुरू होते ही फुल भी हो गई। रेलवे ने बताया कि पहले सेट की 73 स्पेशल ट्रेनों के लिए दो घंटे में 1 लाख 49 हजार 025 टिकट बुक हुए। अगले 2.30 घंटे में ही यह आंकड़ा 4 लाख से ज्यादा पहुंच गया। सारी ट्रेनें एक हफ्ते के लिए फुल हो गईं। सभी में 100 से ज्यादा वेटिंग के टिकट भी बन गए।



लोगों को दिक्कत हुई तो आईआरसीटीसी को सफाई देनी पड़ी 

लोगों ने रेलवे और आईआरसीटीसी को टैग कर बताया कि 10 बजे साइट ही नहीं खुली। साइट पर एरर का मैसेज आ रहा है। वहीं, कुछ लोगों ने कहा कि पैसे कट गए, लेकिन टिकट नहीं मिल पाई। लोगों ने कहा कि आईआरसीटीसी की वेबसाइट चली ही नहीं। इस पर आईआरसीटीसी को सफाई देनी पड़ी। ट्वीट कर बताया कि वेबसाइट काम कर रही है। टिकट बुक हो रहे हैं।


रेलवे ने बुधवार देर रात ट्रेन की लिस्ट जारी की। इनमें दुरंतो, संपर्क क्रांति, जन शताब्दी और पूर्वा एक्सप्रेस जैसी गाड़ियां शामिल हैं। इन गाड़ियों में एसी और नॉन एसी कोच होंगे। जनरल कोच में बैठने के लिए भी रिजर्वेशन लेना होगा। यानी ट्रेन में कोई अनरिजर्व्ड कोच नहीं होगा।इन गाड़ियों में सीटों के लिए ऑनलाइन बुकिंग 21 मई यानी गुरुवार सुबह 10 बजे से आईआरसीटीसी की वेबसाइट और मोबाइल ऐप पर शुरू हो गई है। रिजर्वेशन काउंटर से कोई टिकट बुक नहीं होगा। इनके लिए एडवांस रिजर्वेशन पीरियड 30 दिन होगा, आरएसी और वेटिंग लिस्ट के नियम पहले की तरह होंगे।


स्लीपर का किराया देकर जनरल कोच में बैठना होगा


रेलवे अधिकारियों के मुताबिक, 1 जून से चलने वालीं ट्रेनों का किराया सामान्य ही होगा, लेकिन जनरल कोच में सीट बुक करने के लिए भी स्लीपर का किराया देना होगा। रेलवे ने कहा है कि सभी यात्रियों को सीट मिलेगी यानी कोई वेटिंग नहीं होगी। कोई भी यात्री वेटिंग टिकट पर यात्रा नहीं कर पाएगा। किसी भी तरह से अनारक्षित टिकट नहीं मिलेगा और न ही तत्काल टिकट की कोई व्यवस्था है।


फिलहाल श्रमिक ट्रेनें और स्पेशल ट्रेनें चलाई जा रहीं


रेलवे ने 1 जून से नई ट्रेनों की शुरुआत से पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ चर्चा की। इससे पहले मंगलवार को रेल मंत्री पीयूष गोयल ने 1 जून से 200 नॉन एसी ट्रेनें चलाने की बात कही थी। 1 मई से प्रवासी मजदूरों के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेनें और 12 मई से राजधानी रूट पर 15 स्पेशल ट्रेनों की शुरुआत की गई थी।


रेलवे ने 30 जून तक के सभी टिकट रद्द कर दिए थे
देशभर में रेलवे की 12 हजार यात्री ट्रेनें जनता कर्फ्यू के दिन यानी 22 मार्च से ही बंद कर दी गई थीं। इसके अलावा रेलवे ने पिछले दिनों 30 जून तक के लिए बुक हुए सभी टिकट कैंसल कर यात्रियों को रिफंड भी दे दिया था। इसका मतलब है कि ट्रेनों का परिचालन सामान्य होने में अभी वक्त लगेगा।



Popular posts
उत्तराखंड के चारधाम / बद्रीनाथ को रोज चढ़ाई जाती है बद्रीतुलसी, यहां के बामणी गांव के लोग बनाते हैं ये माला
कोरोना इफेक्ट / एमिरेट्स एयरलाइंस ने 600 पायलटों और 6500 केबिन क्रू को निकाला, सितंबर तक कर्मचारियों की सैलरी में 50% कटौती जारी रहेगी
प्रसिद्ध समाजसेवी डॉ योगेश दुबे मुंबई की राजकुमार सोनी से बातचीत
Image
IIT गांधीनगर की रिसर्च / भारत में नाले के गंदे पानी में कोरोनावायरस होने के प्रमाण मिले, देश में इस तरह की यह पहली रिसर्च हुई
अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव / अश्वेतों की नाराजगी भुनाने में जुटे डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बिडेन, युवाओं को लुभाने के लिए डिजिटल कैंपेन भी चलाएंगे