यूपी: लॉकडाउन-2 का छठवां दिन / आज से राहत के बीच 19 जिले लॉक रहेंगे, 23 जमाती जेल भेजे गए: मोदी ने दो नेताओं से चर्चा कर बनारस का हाल जाना

यूपी: लॉकडाउन-2 का छठवां दिन / आज से राहत के बीच 19 जिले लॉक रहेंगे, 23 जमाती जेल भेजे गए: मोदी ने दो नेताओं से चर्चा कर बनारस का हाल जाना




  • लखनऊ में इंडोनेशिया और अन्य देशों से 23 जमाती पकड़े गए थे। इन्हें रविवार रात अस्थाई जेल भेज दिया गया।लखनऊ में इंडोनेशिया और अन्य देशों से 23 जमाती पकड़े गए थे। इन्हें रविवार रात अस्थाई जेल भेज दिया गया।





  • राज्य के 50 जिलों में अब तक 1100 मरीज कोरोना पॉजिटिव मिले, इनमें 781 तब्लीगी जमाती

  • अब तक 17 लोगों की जान गई, 127 मरीज ठीक होकर अस्पताल से डिस्चार्ज हुए

  • महारागंज के एक गांव में लॉकडाउन के बीच फंसा फ्रांसीसी परिवार, प्रधान करा रहे खाने-पीने का इंतजाम




 



लखनऊ. केंद्र सरकार ने आज से कोरोना से कम प्रभावित इलाकों में कुछ रियायत देने का ऐलान किया है। लखनऊ, नोएडा, आगरा समेत कई जिलों में पाबंदियां पूरी तरह से लागू रहेंगी। न तो दफ्तर खुलेंगे और न ही उद्योग शुरू होंगे। हालांकि, राजधानी में सचिवालय में सीमित स्टाफ के साथ आज से काम शुरू हो जाएगा। बाहरी लोगों की एंट्री बंद रहेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लॉकडाउन के दौरान पाबंदियों में छूट के संबंध में डीएम को निर्णय लेने और शासन को अवगत कराने के लिए कहा है। जिन जिलों में कोरोना के 10 से ज्यादा केस हैं, वहां ज्यादा सतर्कता बरती जाएगी। इस दायरे में लखनऊ समेत 19 जिले शामिल हैं।


आज 12 नए केस, अब तक 17 की जान गई


सोमवार को उत्तर प्रदेश में कोरोना के 12 नए मामले सामने आए। केजीएमयू ने बताया कि लखनऊ में 2 और आगरा में 10 नए पॉजिटिव मिले। यूपी के 50 जिलों में अब तक 1100 कोरोना मरीज मिले हैं। इनमें 781 तब्लीगी जमात से हैं। हालांकि, अभी भी कोरोना के 966 एक्टिव केस हैं। इससे पहले रविवार देर रात तक 125 नए मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। 127 मरीज स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज किए गए हैं। इसके अलावा, कोरोना से अब तक बस्ती, वाराणसी, बुलंदशहर, कानपुर, लखनऊ और फिरोजाबाद में 1-1, मुरादाबाद में 2, मेरठ में 3 और आगरा में 6 मौतें हुईं हैं।


लखनऊ: लखनऊ में रविवार रात 23 जमातियों को सआदतगंज के म्यूनिसिपल इंटर कॉलेज में बनाई गई अस्थाई जेल में भेज दिया गया। इन पर संक्रमण फैलाने का केस दर्ज किया था। सभी का इलाज लोकबंधु अस्पताल में चल रहा था। अस्थाई जेल में सुरक्षा के कड़े इंतजाम हैं। प्रभारी निरीक्षक सआदतगंज महेश पाल सिंह ने बताया कि इन सभी जमातियों के पासपोर्ट और वीजा जब्त कर लिए गए हैं। सभी को ब्लैक लिस्टेड किया गया है। लुकआउट सर्कुलर भी जारी किया है।
मेरठ: जिले के वैलेंटिस कैंसर अस्पताल द्वारा समाचार पत्र में दिए गए विज्ञापन पर विवाद हो गया है। इस मामले में अस्पताल संचालक के खिलाफ रविवार को एफआईआर दर्ज की गई है। दरअसल, 17 अप्रैल को दिए गए विज्ञापन में लिखा था कि यहां भर्ती होने वाले हिंदू-मुस्लिम मरीजों और तीमारदारों को कोरोनावायरस की जांच कराना और उसकी रिपोर्ट निगेटिव आना जरूरी है।अब स्पष्टीकरण छपवाते हुए माफी मांगी गई है। अस्पताल के डॉ. अमित जैन ने कहा- विज्ञापन से सभी लोगों से अपील थी कि वे सरकार के दिशा-निर्देशों का पालन करें, ताकि सभी लोग सुरक्षित रहें। इसका धर्म से कोई लेना-देना नहीं है। हम माफी मांगते हैं। अस्पताल का किसी की भावनाओं को आहत करने का इरादा नहीं था।


महाराजगंज: भारत भ्रमण पर कार से निकला फ्रांसीसी परिवार पिछले 23 दिन से महाराजगंज जिले के कोल्हुआ गांव में फंसा है। परिवार में पांच लोग हैं। सभी नेपाल जाने की योजना बना रहे थे, लेकिन लॉकडाउन के बाद वे सभी यहीं फंस गए। प्रशासन ने सभी का परीक्षण कराया है। ये सभी सोनौली बॉर्डर से 30 किमी दूर जंगल किनारे बसे इस गांव में अपना ठिकाना बनाए हैं। प्रशासन ने इनसे शहर के एक होटल में ठहरने की अपील की थी, लेकिन ये लोग गांव नहीं छोड़ना चाहते। प्रधान द्वारा इनके खाने-पीने का इंतजाम कराया जा रहा है।


वाराणसी: पितरकुंडा में शनिवार को एक बुजुर्ग कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। उसने अपना इलाज महमूरगंज स्थित एक अस्पताल में कराया था। प्रशासन ने अस्पताल में ओपीडी बंद कराते हुए भर्ती मरीज, 13 डॉक्टरों और कर्मचारियों को क्वारैंटाइन कर दिया है। वहीं, कोटा से 289 बच्चे जिले के काशी इंस्टीट्यूट पहुंचे। रैपिड टेस्ट के बाद बच्चों को घरों के लिए छोड़ा गया। उधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा नेता धर्मेंद्र सिंह और अशोक चौरसिया से फोन पर बातचीत करके शहर का हाल-चाल जाना। मोदी ने कार्यकर्ताओं और जनता से आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करने को कहा। यह भी कहा कि कोरोना की जंग में उत्साह कम नहीं होना चाहिए। काशी एक मिसाल पेश कर रही है।


बदायूं: जिले में 8 कोरोना संक्रमित हो गए। जिलाधिकारी कुमार प्रशांत ने बताया कि जिले में कोरोना के पांच नए केस मिले हैं। सीएमओ डॉ. यशपाल सिंह के अनुसार, सभी जिला पुरुष अस्पताल में क्वारैंटाइन थे। इसमें दो शहर के मोहल्ला काबुलपुरा, दो जालंधरी सराय मोहल्ला और एक दहगवां का है, जो जमाती के सम्पर्क में आया था। सभी को बरेली मेडिकल कॉलेज शिफ्ट कर दिया है। इलाके को सील किया जा रहा है।


उत्तर प्रदेश में जिलेवार कोरोना के केस
अभी तक आगरा में 250, लखनऊ में 167, गाजियाबाद में 41, गौतमबुद्धनगर (नोएडा) में 95, लखीमपुर खीरी में 4, कानपुर नगर में 30, पीलीभीत में 2, मुरादाबाद में 57, वाराणसी में 14, शामली में 26, जौनपुर में 5, बागपत में 15, मेरठ में 74, बरेली में 6, बुलंदशहर में 15, बस्ती में 19, हापुड़ में 16, गाजीपुर में 5, आज़मगढ़ में 7, फिरोजाबाद में 48, हरदोई में 2, प्रतापगढ़ में 6, सहारनपुर में 72 और शाहजहांपुर में 1, बांदा में 2, महाराजगंज में 6, हाथरस में 4, मिर्जापुर में 3, रायबरेली में 2, औरैया में 6, बाराबंकी में 1, कौशांबी में 2, बिजनौर में 22, सीतापुर में 17, प्रयागराज में 1, मथुरा में 5 और बदायूं में 8, रामपुर में 14, मुजफ्फरनगर में 5, अमरोहा में 10, भदोही में 1, कासगंज में 3 व इटावा में 3, संभल में 7, उन्नाव में 1, कन्नौज में 5, संतकबीरनगर में 1, मैनपुरी में 4, गोंडा में 1 और मऊ में भी एक की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आई है।



Popular posts