कोरोना से मृत महिला का शव परिजनों को सौंपा


- शव ने दर्जन भर से ज्यादा लोगों को संक्रमित किया
- कलेक्टर ने सिविल सर्जन को नोटिस देकर जवाब मांगा

जबलपुर। शहर में कोरोना संदिग्ध महिला मरीज की मौत के बाद उसका शव परिवारवालों को सौंप दिया गया, जो लापरवाही थी। क्योंकि उस पेशेंट की कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट आनी बाकी थी। मरीज के संदिग्ध होने के बावजूद रिपोर्ट आने से पहले ही शव को परिवार को सौंप दिया गया। नतीजा ये हुआ कि एक मृत कोरोना पॉजिटिव मरीज के शव ने दर्जन भर से ज्यादा लोगो को संक्रमित कर दिया। लापरवाही बरतने के इस मामले में अब सिविल सर्जन को कलेक्टर ने नोटिस देकर जवाब मांगा है।
डेडबॉडी मैनेजमेंट के लिए गाइडलाइन
कोरोना पॉजिटिव मरीज की मौत के बाद बरती गयी इस भयानक लापरवाही को जिला प्रशासन ने गंभीरता से लिया है और अब डेडबॉडी के प्रॉपर मैनेजमेंट के लिए जिला प्रशासन गाइड लाइन बना रहा है। 
वहीं जबलपुर का मोक्ष संस्थान लॉकडाउन के दौरान अलग-अलग वजहों से मारे गए 26 लोगों के पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार या फिर सुपुर्द-ए-खाक कर चुका है। कोरोना संक्रमण के दौर में उससे बचाव के लिए जिस तरह का मैनेजमेंट जीवित लोगों के लिए जरूरी है, उतना ही जरूरी शवों के लिए भी है।


Popular posts