इंदौर में कोरोना पॉजिटिव थाना प्रभारी की मौत 


- दो रिपोर्ट निगेटिव आई थीं, आज अस्पताल से छुट्टी मिलना थी
- उन्हें 19 दिन पहले अरविंदो अस्पताल में भर्ती कराया था
- मुख्यमंत्री ने 50 लाख की मदद और पत्नी को सब इंस्पेक्टर की नौकरी देने का किया ऐलान 
- भाजपा के पूर्व पार्षद की मौत के बाद उनकी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई
- अब तक इंदौर में 50 की मौत

इंदौर। कोरोना का एपिसेंटर बने इंदौर में 45 वर्षीय थाना प्रभारी की शनिवार रात 2 बजे मौत हो गई। इंस्पेक्टर देवेंद्र चंद्रवंशी जूनी थाने के प्रभारी थे। वे पिछले 19 दिन से अरविंदो अस्पताल में भर्ती थे। टीआई चंद्रवंशी की पहली कोरोना रिपोर्ट में संक्रमण की पुष्टि हुई थी, लेकिन बाद में 13 और 15 अप्रैल की रिपोर्ट निगेटिव आईं। अस्पताल प्रबंधन के प्रमुख डॉ. विनोद भंडारी का कहना है कि चंद्रवंशी की मौत का मुख्य कारण पल्मोनरी एम्बोलिज्म है। रविवार को उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिलनी थी। इंदौर के सीएमएचओ डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने कहा है कि चंद्रवंशी की मौत कोरोना के आंकड़ों में ही दर्ज होगी। वहीं टीआई के साथ तैनात रहा एएसआई भी संक्रमित है। भाजपा के पूर्व पार्षद की मौत के बाद उनकी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। अब तक इंदौर में 50 लोगों की मौत हो चुकी है।
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इंस्पेक्टर चंद्रवंशी के परिवार को 50 लाख रुपए की मदद देना का ऐलान किया है। उन्होंने ट्वीट किया कि मैं देवेंद्र चंद्रवंशी के चरणों में श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। वे कोरोना वॉरियर बनकर लोगों की सेवा में लगे हुए थे। इस संकट की घड़ी में मेरे साथ पूरा प्रदेश उनके साथ खड़ा है। शोकाकुल परिवार को राज्य शासन की ओर से आर्थिक मदद और उनकी पत्नी को सब इंसपेक्टर के पद पर नियुक्ति दी जा रही है। इंस्पेक्टर चंद्रवंशी को रामबाग मुक्तिधाम में अंतिम विदाई और श्रद्धांजलि दी गई।
चंद्रवंशी को मुक्तिधाम में गॉर्ड ऑफ ऑनर दिया
प्रशासन के आदेश के मुताबिक इंस्पेक्टर चंद्रवंशी की पार्थिव देह अस्पताल से सीधे मुक्तिधाम ले जाई गई। अंतिम संस्कार से पहले यहां उन्हें गॉर्ड ऑफ ऑनर और श्रद्धांजलि दी गई। डीआईजी हरिनारायणचार्य मिश्रा समेत कई अधिकारी और चंद्रवंशी के साथी उन्हें अंतिम विदाई देने के लिए रामबाग मुक्तिधाम पहुंचे। 
15 दिन से वेंटिलेटर पर थे इंस्पेक्टर
सीएसपी दिनेश अग्रवाल ने बताया कि टीआई देवेंद्र अब हमारे बीच नहीं रहे। सुबह जैसे ही पुलिसकर्मियों की नींद खुली तो यह दुखद सूचना मिली तो सबका मन बैठ गया। टीआई को कोरोना के अलावा निमोनिया का संक्रमण ज्यादा हो गया था। हालत गंभीर होने पर वे 15 दिन से वेंटिलेटर पर थे। 2007 में एसआई बने चंद्रवंशी शाजापुर जिले के रहने वाले थे। उनकी मौत से पुलिस महकमे में शोक है। शनिवार को पंजाब के लुधियाना में कोरोना पॉजिटिव एसीपी अनिल कोहली की जान चली गई थी।
कोरोना संक्रमण से इंदौर में 50 जानें गईं
शनिवार को इंदौर में 70 वर्षीय महिला की भी निजी अस्पताल में मौत हुई। टीआई चंद्रवंशी और भाजपा के पूर्व पार्षद की मौत जोडऩे पर यह आंकड़ा 50 हो गया है। प्रशासन ने पूरे शहर की स्क्रीनिंग कराने का फैसला किया है। इसके लिए 1600 टीमें बनेंगी, जो अगले सात दिन में शहर के 5 लाख घरों में लोगों की सेहत की जानकारी जुटाएगी। सीएमएचओ डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने बताया कि इसमें से 1 लाख घरों में (ज्यादातर कंटेनमेंट एरिया) करीब 7 लाख लोगों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है। 525 टीमें संक्रमित इलाकों में सर्वे कर बीमारी के लक्षण वाले मरीजों की पहचान कर रही है। इस दौरान करीब 650 में से 40 के सैंपल लिए हैं। अब दायरा बढ़ाने के लिए 230 अतिरिक्त टीमें बना दी हैं। रविवार से कुल 640 टीमों ने काम शुरू किया। इसके अलावा 500 और टीमें बढ़ रहे हैं।


Popular posts
IIT गांधीनगर की रिसर्च / भारत में नाले के गंदे पानी में कोरोनावायरस होने के प्रमाण मिले, देश में इस तरह की यह पहली रिसर्च हुई
कोरोना पर मौसम का असर / नमी घटने पर वायरस हल्के और बारीक होने से हवा में बने रहते हैं, इसीलिए ठंडा मौसम ज्यादा खतरनाक
कोरोना पॉजिटिव युवती पर संक्रमण फैलाने और पिता-भाई व कजिन पर जानकारी छिपाने का केस दर्ज
Image
चैरिटी मैच / हैवीवेट बॉक्सर माइक टायसन 15 साल बाद रिंग में लौटेंगे, पैसा जुटाकर गरीबों के लिए घर बनवाएंगे
एजुकेशन / सीबीएसई 10वीं और 12वीं की कॉपियों का मूल्यांकन आज से घर से ही करेंगे टीचर, गृह मंत्रालय ने दी मंजूरी