अब तक 235 कोरोना केस :  भोपाल में दीनदयाल रसोई में काम करने वाले निगम कर्मचारी समेत 27 नए पॉजिटिव मिले; कल तक ड्यूटी की, रैनबसेरे में खाना भी बांटा

भोपाल. राजधानी में रविवार को 27 नए पॉजिटिव मामले सामने आए। इसमें दीनदयाल रसोई में काम करने वाले नगर निगम कर्मचारी सुभाष जोशी भी पॉजिटिव पाए गए हैं। दीनदयाल रसोई में ड्यूटी के दौरान रैनबसेरे में खाना बांटा था। सुभाष जोशी शनिवार तक ड्यूटी पर जा रहे थे, इस दौरान वह कई लोगों के संपर्क में आया। आज रिपोर्ट आने के बाद क्वारैंटाइन किया गया है। नए मामलों में 9 दिन की बच्ची और एक 11 साल का लड़का भी शामिल है। अब भोपाल में आंकड़ा बढ़कर 235 हो गया है। शनिवार को 8 नए केस आए थे। इसके साथ ही शुक्रवार और शनिवार को विशेष विमान से करीब 3 हजार सैंपल जांच के लिए दिल्ली भेजे गए हैं। उनमें से शुक्रवार को भेजे गए सैंपल्स की जांच रिपोर्ट आज मिलने की संभावना है। इससे आंकड़े बढ़ सकते हैं। 
राजधानी में राहत पहुंचाने वाली खबर शनिवार को आई, जिसमें 102 संदिग्धों की जांच रिपोर्ट निगेटिव पायी गयी। इसके बाद शाम को 30 मरीज इस बीमारी से स्वस्थ होकर घर चले गए और 193 सेंपल निगेटिव आए हैं। हालांकि संक्रमण के 8 नए मामले भी रात तक आ गए थे।  


पुलिस ने शहर में बनाए 21 हाई प्रॉयोरिटी कैंटोनमेंट एरिया 
भोपाल में बने 149 कंटेनमेंट एरिया में से 21 हाई प्रॉयोरिटी कंटेनमेंट चिन्हित किए गए हैं। इन 21 क्षेत्रों में घनी बस्तियां हैं और सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन नहीं हुआ है। पुलिस-प्रशासन को आशंका है कि लगातार हो रही स्क्रीनिंग और सैंपलिंग में इन क्षेत्रों से पॉजिटिव मरीजों की संख्या सामने आ सकती है। इसलिए यहां हर आने-जाने वाले को गेट पर ही रजिस्टर में अपनी जानकारी भरनी होगी। इन बस्तियों की एंट्री-एग्जिट पर सीसीटीवी कैमरे लगवाए जा रहे हैं, ताकि नतीजे आने पर कॉन्टैक्ट हिस्ट्री की प?ताल आसानी से हो सके। 


इन क्षेत्रों में 40 स्वास्थ्य टीमें सैंपलिंग कर रहीं
इन क्षेत्रों में स्वास्थ्य विभाग की करीब 40 टीमें रोजाना सैंपलिंग कर रही हैं। पूरे इलाके की बेरिकेडिंग की जा चुकी है। कंटेनमेंट एरिया में अत्यावश्यक सेवा वालों को भी गेट पर रखे रजिस्टर में अपनी जानकारी दर्ज करनी होगी। अब इलाके के थाना प्रभारी को गेट पर रखे रजिस्टर की एंट्री-एग्जिट रोजाना शाम पांच बजे तक चैक करनी है। ऐसा न करने वाले पुलिस अफसरों पर कार्रवाई की जाएगी। 


वे इलाके जहां घनी आबादी, खतरा ज्यादा
चर्च रोड, अहिरपुरा, बैंक कॉलोनी, करोंद, शबरी नगर, छोला, सिकंदरिया सराय, बजरिया, बाग उमराव दूल्हा, बाग फरहत अफ्जा, हाउसिंग बोर्ड, ब?वाली मस्जिद, मोमिनपुरा, शबरी नगर, नया बसेरा, सर्वधर्म ए-सेक्टर,  बैराग? चीचली,  प्रियंका नगर , टीटी नगर आवासीय परिसर, ऋषि नगर, इस्लामी गेट, आहाता रुस्तम खान, सरदार पटेल नगर, जुमेराती, इस्लामपुरा... ये वे इलाके हैं जहां या तो घनी बस्ती है या फिर कोरोना पॉजिटिव मरीज ज्यादा मिले हैं।


 


Popular posts
IIT गांधीनगर की रिसर्च / भारत में नाले के गंदे पानी में कोरोनावायरस होने के प्रमाण मिले, देश में इस तरह की यह पहली रिसर्च हुई
कोरोना पर मौसम का असर / नमी घटने पर वायरस हल्के और बारीक होने से हवा में बने रहते हैं, इसीलिए ठंडा मौसम ज्यादा खतरनाक
कोरोना पॉजिटिव युवती पर संक्रमण फैलाने और पिता-भाई व कजिन पर जानकारी छिपाने का केस दर्ज
Image
चैरिटी मैच / हैवीवेट बॉक्सर माइक टायसन 15 साल बाद रिंग में लौटेंगे, पैसा जुटाकर गरीबों के लिए घर बनवाएंगे
एजुकेशन / सीबीएसई 10वीं और 12वीं की कॉपियों का मूल्यांकन आज से घर से ही करेंगे टीचर, गृह मंत्रालय ने दी मंजूरी