आज इस विकट दौर में ,  *काम आए सरकारी ।*

*कहने वाले कहते रहे ,*
                     *निकम्मे हैं सरकारी ।*
*आज इस विकट दौर में ,*
                  *काम आए सरकारी ।*
*कोई न आते पास मरीज के,*
                  *दवा पिलाते सरकारी ।*
*कोई न इनके हाथ लगाते ,*
                *मल मूत्र उठाते सरकारी ।*
*कोई न इनको रोक पाते,* 
                    *पत्थर खाते सरकारी ।*
*चौराहों पर चौबीसों घण्टे ,*
                    *पाठ पढ़ाते सरकारी ।*
*स्कूलों में बारातियों सी ,* 
                 *खातिरदारी करते सरकारी ।*
*छोड़ परिवार डटे हुए हैं,*
                 *कर्तव्य पथ पर सरकारी।*
*या फिर बच्चे के संग,*
                  *ड्यूटी पर मां सरकारी।*
*नेताओ ने नाम कमाया,*
                      *देकर धन सरकारी।*
*अपनी कमाई का हिस्सा दे,*
                   *बिना नाम के सरकारी।*
*घर रहने की विनती करते,*
                  *गाना गा कर सरकारी।*
*घर घर जो सर्वे करते,*
                *वो बन्दे सारे सरकारी।*
*नुकसान तो सबका है ,* 
      *पर मौत  सर पर लिए बैठे*
               *वो लोग सारे सरकारी ।*


*इसलिए अभी तो*
    *हम सबको समझना हीं होगा*
          *हर सरकारी विभागों को सहयोग देना होगा* सभी से प्रार्थना कि सरकारी अधिकारी एवं कर्मचारियों को सम्मान दीजिये .....जय हिंद


Popular posts
लॉकडाउन में घर में घुस कर मध्यप्रदेश में नेत्रहीन महिला अधिकारी से रेप, परिजन दूसरे राज्य में फंसे 
उत्तराखंड के चारधाम / बद्रीनाथ को रोज चढ़ाई जाती है बद्रीतुलसी, यहां के बामणी गांव के लोग बनाते हैं ये माला
कोरोना इफेक्ट / एमिरेट्स एयरलाइंस ने 600 पायलटों और 6500 केबिन क्रू को निकाला, सितंबर तक कर्मचारियों की सैलरी में 50% कटौती जारी रहेगी
प्रसिद्ध समाजसेवी डॉ योगेश दुबे मुंबई की राजकुमार सोनी से बातचीत
Image
IIT गांधीनगर की रिसर्च / भारत में नाले के गंदे पानी में कोरोनावायरस होने के प्रमाण मिले, देश में इस तरह की यह पहली रिसर्च हुई