आज इस विकट दौर में ,  *काम आए सरकारी ।*

*कहने वाले कहते रहे ,*
                     *निकम्मे हैं सरकारी ।*
*आज इस विकट दौर में ,*
                  *काम आए सरकारी ।*
*कोई न आते पास मरीज के,*
                  *दवा पिलाते सरकारी ।*
*कोई न इनके हाथ लगाते ,*
                *मल मूत्र उठाते सरकारी ।*
*कोई न इनको रोक पाते,* 
                    *पत्थर खाते सरकारी ।*
*चौराहों पर चौबीसों घण्टे ,*
                    *पाठ पढ़ाते सरकारी ।*
*स्कूलों में बारातियों सी ,* 
                 *खातिरदारी करते सरकारी ।*
*छोड़ परिवार डटे हुए हैं,*
                 *कर्तव्य पथ पर सरकारी।*
*या फिर बच्चे के संग,*
                  *ड्यूटी पर मां सरकारी।*
*नेताओ ने नाम कमाया,*
                      *देकर धन सरकारी।*
*अपनी कमाई का हिस्सा दे,*
                   *बिना नाम के सरकारी।*
*घर रहने की विनती करते,*
                  *गाना गा कर सरकारी।*
*घर घर जो सर्वे करते,*
                *वो बन्दे सारे सरकारी।*
*नुकसान तो सबका है ,* 
      *पर मौत  सर पर लिए बैठे*
               *वो लोग सारे सरकारी ।*


*इसलिए अभी तो*
    *हम सबको समझना हीं होगा*
          *हर सरकारी विभागों को सहयोग देना होगा* सभी से प्रार्थना कि सरकारी अधिकारी एवं कर्मचारियों को सम्मान दीजिये .....जय हिंद


Popular posts
पेरू की पॉपुलर मंत्री / 35 साल की वित्त मंत्री मारिया बनीं स्टार, कोरोना के बीच आम लोगों और छोटे कारोबारियों के लिए रिकवरी पैकेज तैयार करने पर तारीफ मिल रही
शुभ संयोग : गुरु पुष्य नक्षत्र 30 अप्रैल : डॉ हुकुमचंद जैन ज्योतिषाचार्य
Image
अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव / अश्वेतों की नाराजगी भुनाने में जुटे डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बिडेन, युवाओं को लुभाने के लिए डिजिटल कैंपेन भी चलाएंगे
लोक अभियोजन अधिकारियों की न्याय दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका है - न्यायमूर्ति पाठक
Image
उत्तराखंड के चारधाम / बद्रीनाथ को रोज चढ़ाई जाती है बद्रीतुलसी, यहां के बामणी गांव के लोग बनाते हैं ये माला