आगर में एक ही परिवार में पांच कोरोना पॉजिटिव


- जिले में कुल 11 संक्रमित, धार में अब तक 21 केस

, इंदौर। जिले में रविवार को एक ही परिवार के पांच लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इस परिवार में अब तक 7 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। इनके संक्रमण का कनेक्शन इंदौर से जुड़ा होना पता चला है। जिले में अब यह आंकड़ा बढ़कर 11 हो गया है। इनमें नलखेड़ा मस्जिद में छिपकर रह रहे तीन जमाती और पायली का एक युवक भी शामिल है। पायली के युवक की पहली रिपोर्ट निगेटिव आने की जानकारी है। उसके सैंपल फिर से जांच के लिए भेजे जा रहे हैं। वहीं उज्जैन के बडऩगर में एक और संदिग्ध मरीज सामने आया है। इसके परिवार के 14 लोगों को आइसोलेट किया गया है। उधर धार में शनिवार रात 10 लोगों के कोरोना संक्रमित पाए जाने पर यह आंकड़ा बढ़कर 21 हो गया।
कंटेनमेंट एरिया में आए 400 घर
किराना व्यवसाई का सैंपल लेने के बाद हाटपुरा व मुल्तानी मोहल्ला को कंटेनमेंट एरिया घोषित करते हुए आने-जाने वालों पर रोक लगाने के लिए स्टॉपर व डिवाइडर लगाकर सुरक्षा बढ़ाई गई थी, लेकिन दो कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद कलेक्टर संजय कुमार व एसपी मनोज कुमार सिंह के निर्देश पर पहुंचे एएसपी कमल मौर्य, एसडीओपी ज्योति उमठ व तहसीलदार आशीष अग्रवाल ने एरिया बढ़ाते हुए क्षेत्र को बड़ौद दरवाजे के बाहर माधवगंज रोड तथा सरकार वाड़ा से आने वाले रास्ते को सती रोड से तथा फुल मालीपुरा मंदिर के पास से बेरिकेड्स लगवाकर बंद करवा दिया। पहले कंटेनमेंट एरिया में हाटपुरा क्षेत्र के 96 घर थे। एरिया बढ़ाए जाने पर घरों की संख्या 400 से अधिक हो चुकी है। 


धार में 10 नए मरीज, पीथमपुर में 3 व आलीराजपुर में 2 संक्रमित
इसके पहले शनिवार रात आई रिपोर्ट के बाद धार में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 21 हो गई। रिपोर्ट में जिले में 10 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई। एक दिन में ही जिले में इतने संक्रमित बढऩे के बाद कलेक्टर ने 19 अप्रैल से धार शहर में तीन दिन का कफ्र्यू लगा दिया है। पीथमपुर में भी 3 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। यहां तीन प्राइवेट अस्पतालों को अधिग्रहित कर आइसोलेशन वार्ड बनाए गए हैं। उधर आलीराजपुर में जिस जनशिक्षक की पहली रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी उसकी दूसरी जांच आज निगेटिव आई है। हालांकि यहां दो लोग पॉजिटिव पाए गए हैं। धार में संक्रमण तेजी से बढऩे के पीछे सीएमएचओ की गंभीर लापरवाही सामने आई है। 14 अप्रैल को जिला अस्पताल की जिन दो नर्सों और सफाई दरोगा के सैंपल लिए गए थे, उन्हें क्वारेंटाइन ही नहीं किया गया। वे न केवल ड्यूटी करते रहे बल्कि इधर-उधर घूमते भी रहे। इसी से संक्रमण की चेन बनती गई। मामला गंभीर होने के बाद शनिवार को कलेक्टर श्रीकांत बनोठ ने जिला अस्पताल के पूरे स्टाफ को क्वारेंटाइन करने के आदेश दिए हैं। जिले के अन्य शहरों से मेडिकल स्टाफ को बुलाकर यहां तैनात किया जा रहा है।


Popular posts
उत्तराखंड के चारधाम / बद्रीनाथ को रोज चढ़ाई जाती है बद्रीतुलसी, यहां के बामणी गांव के लोग बनाते हैं ये माला
सीमा विवाद पर भारत की दो टूक / अफसरों ने कहा- चीन बॉर्डर से अपने 10 हजार सैनिक और हथियार हटाए, ऐसा होने पर ही पूरी तरह शांति कायम होगी
प्रसिद्ध समाजसेवी डॉ योगेश दुबे मुंबई की राजकुमार सोनी से बातचीत
Image
अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव / अश्वेतों की नाराजगी भुनाने में जुटे डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बिडेन, युवाओं को लुभाने के लिए डिजिटल कैंपेन भी चलाएंगे
कोरोना इफेक्ट / एमिरेट्स एयरलाइंस ने 600 पायलटों और 6500 केबिन क्रू को निकाला, सितंबर तक कर्मचारियों की सैलरी में 50% कटौती जारी रहेगी