85 जिलों में 14 दिन में कोई नया केस नहीं आया; अब तक 6184 लोग ठीक हुए, रिकवरी रेट 22%


- स्वास्थ्य विभाग में संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा- रिकवर मरीज संक्रमण नहीं फैलाते, बल्कि उनकी एंटीबॉडी से संक्रमितों को ठीक किया जा सकता है
- ‘कोरोना वॉरियर्स के साथ किसी प्रकार का भेदभाव न करें, उनका सम्मान और आभार जताएं’


नई दिल्ली. सरकार और आईसीएमआर की तरफ से प्रेस ब्रीफिंग कर देश में कोरोना के हालात के बारे में जानकारी दी जाती है। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने सोमवार को बताया कि अब तक 6184 लोग सही हो चुके हैं। रिकवरी रेट बढ़कर 22.17% हो चुका है। यह लगातार बढ़ रहा है। 85 जिलों में पिछले 14 दिनों से कोई केस नहीं आया है। इसके अलावा पिछले दिनों जिन 28 जिलों में कोई केस नहीं आए थे, उनमें दो जिलों में हाल ही में एक-एक केस आए।  


अग्रवाल ने यह भी कहा कि ठीक हुए मरीज संक्रमण नहीं फैलाते। इसके उलट वे हमें इस बीमारी से लड़ने की प्रेरणा ही देते हैं। उनकी एंटीबॉडी का प्रयोग करके हम संक्रमितों का इलाज कर सकते हैं। प्लाजमा थेरेपी कई जगहों पर सफल हुई है। यह थेरेपी ऐसे ही ठीक हो चुके लोगों से संभव है। कम्युनिटी लीडर आगे आएं और लोगों को संक्रमण रोकने के लिए जागरूक करें। कोरोना वॉरियर्स के साथ किसी प्रकार का भेदभाव नहीं करना है। उनका सम्मान और आभार प्रकट करना चाहिए। प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्रियों से कहा है कि रेड जोन और ऑरेंज जोन में सख्ती बरती जाए। ग्रीन जोन में भी ऐहतियात की जरूरत है। कोशिश करें कि ग्रीन जोन वाले एरिया में भी संक्रमण का कोई मामला सामने न आए। इसके लिए लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग का अच्छे से पालन कराएं।


जरूरी सामान की सप्लाई तेजी से हो रही
एमपावर ग्रुप-5 के चेयरमैन ने बताया कि जरूरी सामानों की सप्लाई चेन में बढ़ोतरी हुई है। 30 मार्च तक देश में जरूरी सामान की सप्लाई के लिए ट्रक, फूड और फार्मा की मूविंग 46% था, जो 25 अप्रैल तक बढ़कर 76% हो गई। मजदूरों तक खाना पहुंचाने का काम तेज हो रहा है। ढाबे खुल गए हैं। फूड प्रोसेसिंग यूनिट्स और पैकेजिंग यूनिट्स भी शुरू हो चुकी हैं। रोज डेढ़ करोड़ लोगों को खाना सर्व किया जा रहा है। गरीबों को खाद्यान्न उपलब्ध कराए गए हैं। 
हमारे पास डेडिकेटेड कोविड-19 हॉस्पिटल्स हैं। यह सिर्फ कोरोना संक्रमितों के लिए हैं। नॉन कोविड हॉस्पिटल्स में अन्य बीमारियों का इलाज कराया जाए। यह सर्विस सुचारू रूप से शुरू करने का आदेश दिया गया है। टेलीमेडिसिन की मदद भी लोग ले सकते हैं। 


80% से ज्यादा गेहूं की कटाई हो चुकी
गृह मंत्रालय की संयुक्त सचिव पुण्यसलिला श्रीवास्तव ने कहा कि आर्थिक व्यवस्था सही करने के लिए लॉकडाउन में छूट दी गई थी। 26 अप्रैल तक 80 प्रतिशत से अधिक गेहूं की कटाई हो चुकी है। 80 प्रतिशत मंडियों का संचालन शुरू हो गया है। दाल और तिलहन की खरीदारी जारी है। 80 हजार से ज्यादा किसान और 70 हजार से ज्यादा व्यापारी ऐप पर पंजीकृत हैं। दो करोड़ से ज्यादा श्रमिकों को मनरेगा के तहत रोजगार उपलब्ध हुआ है।


Popular posts