जीतू सोनी मामले में बड़े पुलिस अधिकारी पर गिरी गाज, इंदौर एडीजी वरुण कपूर हटाए गए


इंदौर/ पिछले दो महीनों से पुलिसिया कार्रवाई की वजह से इंदौर प्रदेश में सबसे हॉट जगह बन गया है। हनीट्रैप मामले में शुरुआती खुलासा भी इंदौर से ही हुआ है। अब अखबार मालिक जीतू सोनी पर कार्रवाई की वजह से चर्चा में है। दोनों ही मामले में पुलिस की भूमिका सबसे अहम है। लेकिन इन दोनों ही मामलों में पुलिस अधिकारियों पर भी गाज गिरी है। अब बड़ी खबर यह है कि इंदौर के एडीजी वरुण कपूर को हटा दिया गया है।
चर्चा है कि जीतू सोनी मामले को लेकर ही वरुण कपूर पर कार्रवाई हुई है। कहा जा रहा है कि सरकार के निर्देश के बावजूद भी वह जीतू सोनी पर कार्रवाई में विलंब कर रहे थे। उसी को देखते हुए पुलिस मुख्यालय ने उन्हें एडीजी इंदौर के पद से हटा दिया है। अब आईजी मिलिंद कानस्कर को इंदौर एडीजी का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। वरुण कपूर जनवरी महीने में इंदौर के एडीजी बनाए गए थे।


पलसिया टीआई पर भी हुई कार्रवाई
एडीजी वरुण कपूर को हटाए जाने के बाद प्रशासनिक महकमे में खलबली मच गई है। वरुण कपूर से पहले पलसिया थाने के टीआई पर भी कार्रवाई हुई है। पलसिया थाने के टीआई ही जीतू सोनी मामले की जांच कर रहे थे। शनिवार की रात टीआई शशिकांत चौरसिया को थाने से हटाकर क्राइम ब्रांच भेज दिया गया है। उनकी जगह चंदन नगर टीआई विनोद दीक्षित को जिम्मेदारी सौंपी गई है।


हनीट्रैप में भी टीआई को हटाया गया था
वहीं, इससे पहले हनीट्रैप मामले में भी पलसिया थाने के टीआई को हटा दिया था। निगम इंजीनियर की शिकायत के बाद हनी ट्रैप मामले की जांच पलसिया थाने ने ही शुरू की थी। लेकिन कुछ दिन बाद ही उन्हें हटा दिया गया था। उस समय इंदौर पुलिस ने तर्क दिया था कि पुराने मामले में उन पर कार्रवाई हुई है। हालांकि चर्चा यह थी कि उन्होंने कुछ वीडियो और सीडी को लिक किया था।


सरकार सख्त
सीएम कमलनाथ का इस पूरे प्रकरण को लेकर कहना है कि सरकार ने अब संगठित माफियाओं के खिलाफ अभियान छेड़ दिया है। किसी को नहीं बख्शा जाएगा। गौरतलब है कि एफआईआर दर्ज होने के बाद ही जीतू सोनी पर ताबड़तोड़ कार्रवाई शुरू हुई है। जीतू के होटल और घर को ध्वस्त कर दिया गया है। साथ ही उसके बेटे अमित सोनी को गिरफ्तार कर लिया गया है।


 


 


 


Popular posts