सेंट्रल बैंक ऑफ  इंडिया के कर्मचारियों का तानाशाही रवैया बना खाताधारकों के लिए मुसीबत का सबब

जैसीनगर। सेंट्रल बैंक ऑफ  इंडिया की जैसीनगर शाखा के कर्मचारियों का तानाशाही रवैया खाता धारकों के लिए मुसीबत का सबब बना हुआ है। छोटी से छोटी समस्या लेकर आने वाले उपभोक्ताओं से बैंक कर्मचारी सीधे मुंह बात तक नहीं करते। ग्राहकों की समस्याओं को हल करना तो दूर बैंक कर्मचारियों द्वारा समस्याओं को सुना तक नही जाता। तो वहीं पिछले कई महीने से प्रिंटिंग मशीन बंद कर स्टेटमेंट प्रिंटिंग के नाम पर ग्राहकों के जेब पर डाका डाला जा रहा है। आलम यह है कि बैंक कर्मचारियों द्वारा अपने कुछ खास लोगों की पासबुक प्रिंट कर दी जाती है लेकिन अन्य लोगों को मशीन बंद है का बहाना बना दिया जाता है। जिसके चलते उपभोक्ता मजबूरी में बैंक चार्जेस देकर स्टेटमेंट ले रहे हैं। बैंक मैनेजर के एक्सीडेंट होने के कारण वह छुट्टी पर हैं तो वहीं बैंक के पीओ गोमेश यादव जबाब मांगने वाले ग्राहकों से सीधे मुंह बात नहीं करते उनके द्वारा ग्राहकों से दुव्र्यव्हार की शिकायतें सुनना आम बात हो चुकी है। कई बार खाता धारकों से जो करना है वो कर लो उनके द्वारा बोला गया है। ग्रामीण खाता धारकों को उल्टा बैंक कर्मचारियों से दुव्र्यवहार करने के केस में फंसाने के चक्कर मे भी ग्रामीण खाताधारक कानूनी प्रपंच में नहीं पड़ता। 


Popular posts
उत्तराखंड के चारधाम / बद्रीनाथ को रोज चढ़ाई जाती है बद्रीतुलसी, यहां के बामणी गांव के लोग बनाते हैं ये माला
कोरोना इफेक्ट / एमिरेट्स एयरलाइंस ने 600 पायलटों और 6500 केबिन क्रू को निकाला, सितंबर तक कर्मचारियों की सैलरी में 50% कटौती जारी रहेगी
प्रसिद्ध समाजसेवी डॉ योगेश दुबे मुंबई की राजकुमार सोनी से बातचीत
Image
IIT गांधीनगर की रिसर्च / भारत में नाले के गंदे पानी में कोरोनावायरस होने के प्रमाण मिले, देश में इस तरह की यह पहली रिसर्च हुई
अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव / अश्वेतों की नाराजगी भुनाने में जुटे डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बिडेन, युवाओं को लुभाने के लिए डिजिटल कैंपेन भी चलाएंगे