विधायक और जिला पंचायत सदस्य के बीच हुई बहस


मंदसौर में शिवराज के सामने भिड़ गए भाजपा के दो नेता
मंदसौर। भाजपा की जन अदालत के समापन के बाद मंच के बाहर शिवराजसिंह चौहान के सामने ही विधायक यशपालसिंह सिसोदिया और जिला पंचायत सदस्य अंशुल बैरागी के बीच जमकर बहस हो गई। दोनों भाजपा नेताओं में जमकर विवाद हुआ। दरअसल, बैरागी कुछ महिलाओं को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान से मिलने गए थे। तब मंदसौर विधायक यशपालसिंह सिसोदिया से उनकी तीखी बहस हो गई।
मंदसौर में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान का 24 घंटे का धरना रविवार सुबह 11 बजे समाप्त हो गया। उन्होंने कहा कि अगर हमारी मांगे पूरी नहीं हुई तो अक्टूबर में पूरे प्रदेश में सड़क पर आंदोलन करेंगे। साथ ही ऐलान किया कि पूरे मध्यप्रदेश में बिजली बिलों को जमा नहीं करेंगे। इसके लिए संघर्ष समिति का गठन होगा। मंदसौर से इसकी शुरुआत करेंगे। साथ ही स्वसहायता समूह लोन को भी माफ करने के लिए संघर्ष होगा। समूह लोन से परेशानी को लेकर कई महिलाओं ने जन अदालत में शिकायत की थी। भाजपा की जन अदालत के समापन पर सभी शिकायतों का एक ज्ञापन मुख्यमंत्री के नाम जिला कलेक्टर को सौंपा गया है।
ज्ञापन का वाचन सासंद सुधीर गुप्ता ने किया। इसके बाद शिवराज सिंह चौहान सहित सभी भाजपा नेताओं ने बिजली बिलों की सड़क पर होली जलाई। भाजपा ने अपने ज्ञापन में स्कूलों में आयोजित होने वाली अर्धवार्षिक परीक्षा भी फिलहाल स्थगित कर देरी से आयोजित करने की मांग की। गौरतलब है कि बारिश के चलते घरों में नुकसान से पुस्तकें भीगने से बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हुई है।


Popular posts
उत्तराखंड के चारधाम / बद्रीनाथ को रोज चढ़ाई जाती है बद्रीतुलसी, यहां के बामणी गांव के लोग बनाते हैं ये माला
कोरोना इफेक्ट / एमिरेट्स एयरलाइंस ने 600 पायलटों और 6500 केबिन क्रू को निकाला, सितंबर तक कर्मचारियों की सैलरी में 50% कटौती जारी रहेगी
प्रसिद्ध समाजसेवी डॉ योगेश दुबे मुंबई की राजकुमार सोनी से बातचीत
Image
IIT गांधीनगर की रिसर्च / भारत में नाले के गंदे पानी में कोरोनावायरस होने के प्रमाण मिले, देश में इस तरह की यह पहली रिसर्च हुई
अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव / अश्वेतों की नाराजगी भुनाने में जुटे डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बिडेन, युवाओं को लुभाने के लिए डिजिटल कैंपेन भी चलाएंगे