बारिश से बर्बादी: 400 सरकारी स्कूल क्षतिग्रस्त, 12 हॉस्टल भी    


सर्वे की प्राथमिक रिपोर्ट, अंतिम रिपोर्ट होगी और भयावह        


विदिशा। बारिश से घरों और फसलों के साथ पशु व जानमाल की हानि के आंकड़े सामने आ चुके हैं। रविवार को ताजा जानकारी सरकारी स्कूलों के नुकसान की प्रशासन ने पेश की। शुरूआती रिपोर्ट के मुताबिक 400 सरकारी स्कूल और 12 हॉस्टल क्षतिग्रस्त हुए हैं। बारिश ने जिले के लगभग 400 सरकारी स्कूल और छात्रावासों को क्षतिग्रस्त कर दिया है। छत, दीवारें, फर्श, स्कूल मैदान, किचन से लेकर फर्नीचर तक नुकसान की चपेट में आया है। जिनकी मरम्मत में करोड़ों रूपए खर्च होंगे। प्रशासन और शिक्षा विभाग ने शुरूआती सर्वे किया है। जिसमें यह आंकड़ा सामने आया। सर्वें पूरा होने के बाद हालात और भयावह सामने आएंगे। 
जिले में 271 प्राथमिक विद्यालय भवन क्षतिग्रस्त हुए है। 88 माध्यमिक विद्यालय भवनों की मरम्मत के लिए 93.59 लाख रूपए तथा 80 क्षतिग्रस्त उच्च माध्यमिक विद्यालय भवनों की मरम्मत के लिए 95.85 लाख रूपए एवं क्षतिग्रस्त उच्चतर 28 विद्यालय भवनों की मरम्मत हेतु 80.5 लाख तथा जिले में 12 छात्रावास भवन भी क्षतिग्रस्त हुए है जिनकी मरम्मत के लिए 9.70 लाख रूपए की आवश्यकता होगी। 


जिले में अब तक 160 फीसदी हुई बारिश
जिले में अब तक 1617.9 मिमी औसत वर्षा हो चुकी है। जो औसत से 60 फीसदी ज्यादा है। जबकि औसत वर्षा 1075 मिमी है। विदिशा में अब तक 1680.5 मिमी, बासौदा में 1914.8 मिमी, कुरवाई में 1454.9 मिमी, सिरोंज में 1477.5 मिमी, लटेरी में 1371.5 मिमी, ग्यारसपुर में 1595.5 मिमी, गुलाबगंज में 1785 मिमी बारिश हुई। 


शहर के दो दर्जन स्कूलों में क्षति  
डिप्टी कलेक्टर एवं प्रभारी डीपीसी बृजेन्द्र सिंह यादव ने बताया कि जलभराव से शिक्षा विभाग एवं आदिम जाति कल्याण विभाग अंतर्गत जिले में 399 स्कूल एवं छात्रावास भवन क्षतिग्रस्त हुए है। इन स्कूलों एवं छात्रावास की मरम्मत के लिए अनुमानित आवश्यक 543.91 लाख राशि की आवश्यकता होगी। बताया जाता है कि अभी शुरूआती सर्वे ही सामने आया है। शहर के करीब 2 दर्जन से ज्यादा सरकारी स्कूलों की इमारतों को काफी नुकसान हुआ है। 


Popular posts
उत्तराखंड के चारधाम / बद्रीनाथ को रोज चढ़ाई जाती है बद्रीतुलसी, यहां के बामणी गांव के लोग बनाते हैं ये माला
कोरोना इफेक्ट / एमिरेट्स एयरलाइंस ने 600 पायलटों और 6500 केबिन क्रू को निकाला, सितंबर तक कर्मचारियों की सैलरी में 50% कटौती जारी रहेगी
प्रसिद्ध समाजसेवी डॉ योगेश दुबे मुंबई की राजकुमार सोनी से बातचीत
Image
IIT गांधीनगर की रिसर्च / भारत में नाले के गंदे पानी में कोरोनावायरस होने के प्रमाण मिले, देश में इस तरह की यह पहली रिसर्च हुई
अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव / अश्वेतों की नाराजगी भुनाने में जुटे डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बिडेन, युवाओं को लुभाने के लिए डिजिटल कैंपेन भी चलाएंगे