पत्नी को वापस भेजने के लिए  सास ने रखी धर्म बदलने की शर्त

- पीडि़त पति ने कलेक्टर से लगाई गुहार
इंदौर। अपनी दो साल की बेटी को सोता छोड़ युवती बिना किसी को बताए अपने मायके चली गई। इसके बाद पत्नी को ढूंढते हुए पति जब उसके घर पहुंचा, तो सास ने कहा कि अगर वह धर्म परिवर्तन कर ले तो वो अपनी बेटी उसके साथ भेजेगी। पीडि़त युवक ने अब कलेक्टर से मदद की गुहार लगाई है।


क्या था मामला
द्वारिकापुरी में रहने वाले दीपक का कहना है कि बीते 17 जून 2016 को प्रियंका उर्फ शहनाज के साथ आर्य समाज मंदिर औरंगाबाद (महाराष्ट्र) में उसका विवाह हुआ था। वहीं 28 जुलाई 2017 को उनकी एक बेटी भी हुई। कुछ दिनों तक सब कुछ ठीक चला, लेकिन 2 जुलाई को प्रियंका अपने पति और बेटी पीहू को सोता हुआ छोड़कर चली गई। दीपक ने जब तलाश शुरू की तो पता चला कि वह अपनी मां के घर में है। जब वह अपनी पत्नी को लेने अपने ससुराल पहुंचा तो उसकी मां रुकैया बी और उसकी बहनें उसके साथ मारपीट करने लगी। पत्नी के परिवार वालों का कहना है कि तू पहले अपना धर्म बदल, तब हम तेरी पत्नी को भेजेंगे। इस पर जब दीपक ने कहा कि बच्ची अपनी मां के लिए रो रही है, तब भी उनका दिल नहीं पसीजा। यहां तक कि किसी ने उसे उसकी पत्नी से मिलने तक नहीं दिया।


सास आने नहीं दे रही
इधर, दीपक का कहना है कि उनकी दो साल की बेटी पीहू अपनी मां को याद कर उठ-उठकर बैठ जाती है। स्थिति यह है कि वह बेटी को पत्नी के पास छोड़ भी नहीं सकता, क्योंकि वहां का माहौल ठीक नहीं है। ऐसे में बेबस पति ने अपनी पत्नी को सास के चंगुल से छुड़वाने की गुहार लगाई है। ताकि बच्ची को उसकी मां मिल जाए। दीपक ने यहां तक कहा कि उसकी पत्नी आना चाहती होगी, लेकिन उसे दबाकर रखा गया होगा।


Popular posts
उत्तराखंड के चारधाम / बद्रीनाथ को रोज चढ़ाई जाती है बद्रीतुलसी, यहां के बामणी गांव के लोग बनाते हैं ये माला
कोरोना इफेक्ट / एमिरेट्स एयरलाइंस ने 600 पायलटों और 6500 केबिन क्रू को निकाला, सितंबर तक कर्मचारियों की सैलरी में 50% कटौती जारी रहेगी
प्रसिद्ध समाजसेवी डॉ योगेश दुबे मुंबई की राजकुमार सोनी से बातचीत
Image
IIT गांधीनगर की रिसर्च / भारत में नाले के गंदे पानी में कोरोनावायरस होने के प्रमाण मिले, देश में इस तरह की यह पहली रिसर्च हुई
अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव / अश्वेतों की नाराजगी भुनाने में जुटे डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बिडेन, युवाओं को लुभाने के लिए डिजिटल कैंपेन भी चलाएंगे